Home » इंडिया » maharastra govt will going to introduce anti spiting law
 

महाराष्ट्र सरकार वसूलेगी सार्वजनिक जगह पर थूकने वालों से 5 हजार जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2016, 19:09 IST

महाराष्ट्र सरकार ने तेजी से बढ़ रही टीबी जैसी संक्रामक बीमारी की रोकथाम के लिए सार्वजनिक जगहों पर थूकने के खिलाफ कानून बनाने जा रही है.

सरकार इस कानून से संबंधित विधेयक को अगले महीने शुरू होने वाले विधानसभा के बजट सत्र में पेश कर सकती है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक इस विधेयक में सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर जुर्माना लगाने का प्रावधान होगा. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री दीपक सावंत ने पिछले साल ‘विश्व कैंसर दिवस’ पर आयोजित एक कार्यक्रम में इस तरह का कानून बनाने की बात कही थी.

उन्होंने सार्वजनिक जगहों पर तंबाकू खाने पर प्रतिबंध संबंधी एक प्रस्तावित कानून के अलावा सार्वजनिक जगहों पर जहां-तहां थूकने संबंधी एक कानून लाने की बात कही थी.

दीपक सावंत नेे कल कई बार ट्वीट करके कहा कि 'प्रस्तावित कानून का मकसद सार्वजनिक जगहों पर लोगों को थूकने से रोकना है. इस कानून के तहत राज्य सरकार भारी जुर्माना लगाए जाने के अलावा दोषियों से सार्वजनिक जगहों की सफाई कराने की भी योजना बना रही है'.

सावंत ने कहा, 'इस संबंध में विभाग कानून एवं न्यायिक विभाग के अधिकारियों के साथ चर्चा कर रहा है. समूचे राज्य में संक्रामक रोगों में तेजी से हो रहे विस्तार को देखते हुए थूकने पर मनाही संबंधी कानून लाने का फैसला किया है जिसे नौ मार्च से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में पेश किए जाने की संभावना है.'

इस मामले में कानून एवं न्यायिक विभाग के सचिव एनजे जमादार का कहना है कि 'विभाग निश्चित रूप से मंत्रीजी की ओर से भेजे गए नोट पर गंभीरता से विचार करेगी.'

संभावित कानून के मुताबिक पहली बार थूकने पर दोषियों को एक हजार रूपये का जुर्माना अदा करने के साथ सार्वजनिक स्थान या फिर सरकारी कार्यालयों में एक दिन के लिए सामुदायिक सेवा करनी होगी.

दूसरी बार ऐसा करते हुए पाए जाने पर दोषी पर 3,000 रूपये का जुर्माना लगाने और तीन दिनों के लिए सामुदायिक सेवा का प्रावधान है और बार-बार ऐसा करते पाए जाने पर 5,000 रूपये के जुर्माने और पांच दिनों की सामुदायिक सेवा का प्रावधान होगा.

First published: 6 February 2016, 19:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी