Home » इंडिया » Main accused of Nithari case Koli and pandher sentence to death
 

निठारी के 'नरपिशाच': 8वें केस में कोली और पंढेर को फांसी की सज़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2017, 15:01 IST

निठारी कांड में सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह पंढेर को अदालत ने फांसी की सज़ा सुनाई है. राष्ट्रीय राजधानी से सटे नोएडा के निठारी गांव में दुष्कर्म और हत्या के कई मामलों में से एक में सीबीआई की विशेष अदालत ने सजा का एलान किया है.

व्यवसायी मोनिंदर सिंह पंढेर और उसके नौकर सुरेंद्र कोली को एक 20 वर्षीया युवती के अपहरण, हत्या और दुष्कर्म तथा आपराधिक साजिश रचने के मामले में मौत की सजा सुनाई गई है. अदालत ने उन्हें शनिवार को दोषी ठहराया था.

विशेष अदालत के न्यायाधीश पवन कुमार त्रिपाठी ने युवती के अपहरण, हत्या और दुष्कर्म तथा आपराधिक साजिश रचने के मामले में पंढेर और कोली के लिए सजा का एलान किया. सीबीआई ने 29 दिसंबर, 2006 को यह मामला दर्ज किया था. यह निठारी कांड में दर्ज आठवां मामला है.

घटना पांच अक्टूबर, 2006 की है, जब पीड़िता अपने कार्यालय से घर लौट रही थी और निठारी में पंढेर के घर के सामने से गुजर रही थी. आरोपों के मुताबिक कोली ने महिला की हत्या कर उसका सिर धड़ से अलग कर दिया था और खोपड़ी घर के पिछले हिस्से में फेंक दी थी, जिसे सीबीआई ने बाद में बरामद किया था.

First published: 24 July 2017, 15:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी