Home » इंडिया » Narendra Modi, Shinzo Abe, Javadekar, Paris climate, Catch Hindi news
 

प्रधानमंत्री ने जापानी पीएम से कहा मेक इन इंडिया, साथ में तीन और खबरें

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 December 2015, 17:31 IST

दिल्ली में आयोजित बिजनेस लीडर फोरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आह्वान किया कि भारत को सिर्फ हाई स्पीड ट्रेन ही नही बल्कि हाई स्पीड ग्रोथ भी चाहिए. उन्होंने यह बात जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबे, जो की तीन दिन के भारत दौरे पर है, की मौजूदगी में कही.

उन्होंने बताया की किस तरह उनकी परियोजना मेक इन इंडिया जापानी मीडिया में भी छायी हुई है. उन्होंने कहा कि पहली बार जापान मारुति कारों का आयात करेगा. आज उनकी शिखर बैठक के दौरान उम्मीद की जा रही है की दोनों नेताओं के बीच भारत के पहले बुलेट ट्रेन ट्रैक और नागरिक परमाणु समझौते से जुड़े के लिए 98,000 करोड़ रुपये का सौदा होगा.

जावेडकर ने कहा कि समझौता विकसित देशों के लचीलेपन पर निर्भर करता है

India-before-Paris-climate-change-conference-Lead.png

जलवायु परिवर्तन समझौते पर हो रही बातचीत ने 11 दिसंबर को नया मोड़ ले लिया जब भारत और चीन ने कहा की उन्हें उत्सर्जन, आर्थिक मदद और जवावदेही के मामले में छूट दी जाए.

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात की. जावड़ेकर ने कहा की पेरिस समझौते की सफलता विकसित देशों के लचीलेपन पर निर्भर करेगी.

भारत अपनी मांग पर कायम है कि अमेरिका जैसे विकसित देशों को जलवायु परिवर्तन के खर्चो में ज्यादा योगदान देना चाहिए.

काबुल में स्पेनिश दूतावास के निकट तालिबान घेराबंदी समाप्त हुई, सभी हमलावर मारे गए

अफगान सुरक्षा बलों ने काबुल में स्पेनिश दूतावास के पास एक गेस्ट हाउस पर हुए हमले में शामिल सभी तालिबानी विद्रोहियों को मार गिराया है. काबुल के एक बेहद सुरक्षित इलाके में यह हमला हुआ जिसमें एक स्पेनिश सुरक्षा कर्मी की मौत हो गई. कम से कम सात घायल लोगों का पास ही के इटालियन ऐड ग्रुप द्वारा चलाये जा रहे हॉस्पिटल में इलाज किया जा रहा है.

हमलावरों ने शुक्रवार दोपहर के बाद एक बम धमाका किया और उसके बाद तीन बन्दूकदारी परिसर में घुस गए. इस हमले से हरकत मेंं आए सुरक्षा बलों ने उन्हें कड़ा जवाब दिया. घंटो तक चली मुठभेड़ के बाद सभी हमलावरों को मार गिराया गाय. स्थानीय लोगों के मुताबिक सुबह तक गोलियां और बम धमकों आवाजें आती रहीं.

नेशनल हेराल्ड मामला: एजेएल के शेयरहोल्डरों ने कहा उन्हें हेरल्ड के शेयर ट्रांसफर करने की जानकारी नही दी गई

rahul-sonia national-herald-case-embed Sajjad Hussain

एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) के कई शेयरहोल्डर्स ने आरोप लगाया है कि कंपनी के चेयरमैन मोतीलाल वोरा और इसके निदेशक सोनिया और राहुल गांधी ने शेयरों को यंग इंडियन के पास ट्रांसफर करने की जानकारी उन्हें नहीं दी थी. दिसंबर 2010 में यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड को अपने शेयर ट्रांसफर करने की जानकारी ज्यादातर एजेएल शेयरधारकों को नहीं थी.

पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण ने दावा किया है की उनके पिता के पास एजेएल के शेयर थे. एजेएल कंपनी नेशनल हेराल्ड न्यूज़पेपर चलाती थी जिसको जवाहरलाल नेहरू ने कई बड़े कांग्रेसी नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के साथ मिलकर शुरू किया था. उन्होंने दावा किया है की उन्हें या एजेएल के किसी भी दूसरे ओरिजिनल शेयरहोल्डर्स को इस लेन देन की सूचना नही दी गयी.

First published: 12 December 2015, 17:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी