Home » इंडिया » Mamata Banerjee also restricted CBI in west bengal after chandrababu Naidu
 

चंद्रबाबू नायडू की राह पर ममता बनर्जी, अब पश्चिम बंगाल में भी नहीं मिलेगी CBI को एंट्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2018, 14:42 IST

चंद्रबाबू नायडू के बाद अब पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार ने सीबीआई को दी गई 'सामान्य रजामंदी' वापस ले ली. ममता बनर्जी ने चंद्रबाबू नायडू के फैसले का समर्थन करते हुए सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी सरकार पर देश की सर्वोच्च एजेंसी सीबीआई के दुरूपयोग करने का आरोप लगाया है.

चंद्रबाबू सरकार के फैसले के बाद ही ममता सरकार ने भी पश्चिम बंगाल में सीबीआई को जांच करने या किसी केस में छापे मारने के लिए दी गई 'सामान्य रजामंदी' शुक्रवार को वापस ले ली. इस बात की जानकारी राज्य सचिवालय के एक शीर्ष अधिकारी ने दी. चंद्र बाबू नायडू के इस फैसले का समर्थन करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, ''चंद्रबाबू नायडू ने बिल्कुल सही किया. बीजेपी अपने राजनीतिक हितों और प्रतिशोध के लिए सीबीआई व अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है.''

सीबीआई मामले से खफा चंद्रबाबू नायडू ने उठाया बड़ा कदम, राज्य में CBI के लिए No Entry

गौरतलब है कि सीबीआई को सामान्य रजामंदी पश्चिम बंगाल में 1989 में तत्कालीन वाम मोर्चा सरकार ने दी थी. लेकिन ममता सरकार की इस अधिसूचना के बाद सीबीआई को अब से अदालत के आदेश के अलावा राज्य में किसी तरह की जांच करने के लिए राज्य सरकार की अनुमति लेनी होगी.

वहीं दूसरी तरफ ममता सरकार के पहले नायडू सरकार के सीबीआई को लेकर इस फैसले को भाजपा और नायडू के बीच बढ़ती तकरार के रूप में देखा जा सकता है.

First published: 17 November 2018, 8:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी