Home » इंडिया » Mamata Banerjee protest against Modi Government, CBI to go to SC
 

केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठीं ममता बनर्जी, सुप्रीम कोर्ट जाएगी CBI

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 February 2019, 8:08 IST

कोलकाता में सीबीआई अफसरों की गिरफ्तारी को लेकर शुरू हुआ घमासान अब सियासी गलियारों में पहुंच गया है. रविवार देर रात पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत के दौरान केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. देर रात ही ममता बनर्जी मेट्रो चैनल के पास धरने पर बैठी हुई हैं. इस धरने में उनके साथ बंगाल के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी धरने पर बैठे हैं. बताया जा रहा है कि देर रात करीब 1.20 के आस पास मेट्रो चैनल पहुंची ममता बनर्जी के लिए आनन-फानन में स्टेज भी बनवा दिया गया.

इस मामले में ममता बनर्जी का कहना है कि ये सत्याग्रह इसी तरह से जारी रहेगा. ममता बनर्जी के साथ धरना स्थल पर हजारों की संख्या में लोग जुटे हैं. वहीं दूसरी तरफ बिगड़ते माहौल को देखते हुए कोलकाता स्थित सीबीआई दफ्तर के बाहर सीआरपीएफ को तैनात किया गया है. बताया जा रहा है कि ममता के समर्थन में कई राजनीतिक दाल सामने आ गए हैं.

बीजेपी कर रही बंगाल पर अत्याचार
वहीं बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल में अत्याचार कर रही है. प्रधानमंत्री मोदी की रैली का जिक्र करते हुए ममता ने कहा कि कल की पीएम रैली में साफ तौर पर पीएम मोदी उन्हें धमका रहे थे. आगे उन्होंने कहा, ''बीजेपी बंगाल को नष्ट करना चाहती है क्योंकि मैंने ब्रिगेड रैली की थी.''

सीबीआई ने बिना वारंट के पुलिस कमिश्नर के घर में घुसने की कोशिश की

पुलिस कमिश्नर के घर पहुंचे सीबीआई अधिकारियों के लिए ममता बनर्जी ने कहा कि बिना सोचना के सीबीआई कोलकता पुलिस कमिश्नर के घर पहुंची, और बिना किसी सर्च वारंट के आईपीएस के घर में घुसने की कोशिश की ये उचित नहीं है. साथ ही ममता ने कहा, ''मैं अब भी कहती हूं कि कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार बेस्ट पुलिस अफसर हैं. वे कई साल से बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि मेरी जिम्मेदारी मेरी राज्य की फोर्स को प्रोटेक्शन देना है.''

बता दें कि रविवार को कोलकाता में पुलिस कमिश्नर के आवास पर सीबीआई के 5 अधिकारी सारदा चिटफंड मामले में जांच पहुंचे थे. इन सीबीआई अफसरों को स्थानीय पुलिस से दो-चार होना पड़ा. कमिश्नर के घर में घुसने से पहले पुलिस ने उनसे सर्च वारंट की मांग की. ऐसी भी खबरी आयी थीं कि सीबीआई अफसरों के साथ पुलिस की हाथापाई भी हो गई थी. बाद में स्थानीय पुलिस ने बिना वारंट के पुलिस कमिश्नर के घर घुसने के प्रयास में उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस थाने ले गई. हालांकि बाद में इन अधिकारियों को छोड़ दिया गया.

First published: 4 February 2019, 8:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी