Home » इंडिया » Mandsaur rape case: Madhya Pradesh CM Shivraj S Chouhan asks death penalty for the culprit
 

मंदसौर रेप पर बोले सीएम शिवराज, आरोपी को मिले मौत की सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2018, 13:52 IST

मध्यप्रदेश के मंदसौर में 7 साल की मासूम के साथ हुई दरिंदगी से लोगों का गुस्सा बेकाबू है. घटना के विरोध में मंदसौर बंद रहा, लोगों ने दुकानें भी नहीं खोली, यहां तक कि लोगों के आक्रोश की वजह से आरोपी को कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका. जिसके बाद स्तिथि को देखते हुए कोर्ट ने कण्ट्रोल रूम जाकर सुनवाई की और आरोपी को 2 जुलाई तक की रिमांड पर रखने के आदेश दिए.
इस मामले को लेकर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बयान दिया. सीएम ने कहा कि केस की कोर्ट में सुनवाई जल्द होनी चाहिए और जो वीभत्स्य अपराध उसने किया है उसके लिए आरोपी को मौत की सजा मिलनी चाहिए.

 

क्या है पूरा मामला

मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक 7 साल की बच्ची को स्कूल से घर वापस जाते समय बच्ची को किडनैप किया गया जिसके बाद उसके साथ रेप भी किया गया. जिसके बाद उसे झाड़ियों में फेंक दिया गया था. बच्ची का इलाज इंदौर के एमवाय अस्पताल में चल रहा है.

7 साल की मासूम के साथ इस कदर हैवानियत की गयी कि डॉक्टर्स को उसकी आंत कटनी पड़ी. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बच्ची के शरीर पर कई जगह दांतों के निशान है. नाक पर भी गहरे जख्म है. यहां तक की जख्म इतने गहरे थे कि डॉक्टर्स को नाक में नेसोगेस्ट्रिक ट्यूब लगानी पड़ी. 7 साल की छोटी सी बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स पर भी गहरे जख्म है. इतने गहरे जख्मों के इलाज के लिए डॉक्टर्स को ऑपरेशन के जरिये आंतों को काटना पड़ा.

ये भी पढ़ें- मंदसौर: 7 साल की मासूम के साथ हुई थी निर्भया जैसी दरिंदगी, जानकर कांप जाएगी रूह

गौरतलब है कि इस घटना के विरोध में मंदसौर जिला बंद रहा. लोगों के गुस्से को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के काफी इंतजाम किये थे. लेकिन लोगों के आक्रोश के चलते आरोपी इरफ़ान खान को कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका. जिसके बाद कोर्ट ने खुद कण्ट्रोल रूम जाकर आरोपी को 2 जुलाई तक पुलिस रिमांड में रखे जाने का फैसला सुनाया.

15 सदस्यों की टीम कर रही है जांच

पुलिस के अनुसार घटना की जांच के लिए 15 अफसरों की टीम बनाई गई है. जो की पुरे मामले की जांच करेगी. साथ ही पुलिस ने कहा कि 20 दिन में चालान पेश कर आरोपी को फांसी की सजा दिलाएगी.

ये भी पढ़ें- DGP के शर्मनाक बोल- निर्भया की मां की फिजिक देखकर समझ सकता हूं वो कितनी सुंदर होगी

गौरतलब है की स्कूल के बाद बच्ची का अपहरण किया गया. उस पर धारदार हथियारों से पांच वार किए गए थे. जिसके बाद उसे झाड़ियों में फेंक दिया गया था. उसे गंभीर हालत में इंदौर लाया गया है. जहां इलाज के दौरान बच्ची के साथ हुई दरिंदगी का पता चला.

First published: 29 June 2018, 13:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी