Home » इंडिया » Maneka Gandhi and BJP leaders tributes, Dalit members cleanse Ambedkar statue with milk In Gujrat
 

मेनका गांधी के माल्यार्पण के बाद दलितों ने आंबेडकर प्रतिमा को दूध से धोया, बोले- दूषित कर दिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2018, 9:50 IST
(PTI, Reprasentative image)

14 अप्रैल को संविधान निर्माता बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर की 127वीं जयंती थी. इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं ने देशभर में व्यापक रूप में बाबासाहेब आंबडेकर की जयंती मनाने का फैसला किया था. कुछ ऐसा ही कार्यक्रम गुजरात के वडोदरा में रखा गया था. जहां केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी भाजपा के सांसदों के साथ बाबासाहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और पुष्पांजलि दी.

लेकिन मेनका गांधी के कार्यक्रम के बाद दलित समुदाय के कार्यकर्ताओंं ने प्रतिमा को दूध से धोकर साफ किया. दलित समुदाय के लोगों का कहना था कि मेनका गांधी के छूने से बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा खण्डित हो गई है. वहीं कुछ नेताओं ने कहा कि उनकी मौजूदगी से यहां का माहौल दूषित हो गया है. 

बड़ौदा के महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय के एससी/एसटी कर्मचारी संघ के महासचिव ठाकोर सोलंकी के नेतृत्व में दलित संगठन के कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिये. इस पर कार्यकर्ताओं और पुलिसकर्मियों के बीच विवाद हुआ. दलित संगठन के कार्यकर्ताओं ने रेस कोर्स पर मौजूद जीईबी सर्किल इलाके में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी और पार्टी के अन्य नेताओं के खिलाफ़ नारेबाजी की. मेनका शहर में आयोजित कई कार्यक्रमों में शामिल होने के लिये यहां आयी थीं.

सोलंकी ने कहा कि आंबेडकर को श्रद्धांजलि देने के लिये दलित कार्यकर्ता भाजपा नेताओं से पहले पहुंचे थे. सोलंकी ने कहा, 'हमने पुलिस से कहा कि भाजपा नेताओं के आने से पहले हमलोग यहां पहुंचे हैं, इसलिए प्रतिमा पर पहले श्रद्धांजलि देने का अधिकार हमारा है. हालांकि पुलिस ने प्रोटोकॉल का हवाला देकर हमें प्रतिमा पर फूल चढ़ाने से रोका और कहा कि पहले फूल चढ़ाने का अधिकार महापौर का है.'

उन्होंने कहा , "मेनका गांधी और अन्य भाजपा नेताओं के पहुंचने के बाद जीईबी सर्किल इलाके में प्रतिमा और माहौल दोनों दूषित हो गए. इसलिए भाजपा नेताओं के वहां से जाने के बाद हमने आंबेडकर की प्रतिमा को दूध और पानी से धोया."

बता दें कि भाजपा सांसद रंजनबेन भट्ट, शहर के महापौर भरत डांगर, भाजपा विधायक योगेश पटेल और अन्य के साथ मेनका आंबेडकर की प्रतिमा पर पहुंचीं. मेनका गांधी और बाकी नेताओं ने सुबह करीब नौ बजे प्रतिमा पर फूल चढ़ाए और कार्यक्रम स्थल से रवाना हो गये. इसके बाद दलित कार्यकर्ताओं ने प्रतिमा को दूध और पानी से धोया.

पढ़ें- उन्‍नाव गैंगरेप केस: 7 दिन की हिरासत पर बोला BJP MLA, मुझे इंसाफ मिलेगा

मेनका गांधी के पहुंचने से पहले भाजपा की प्रांतीय इकाई के एससी/एसटी प्रकोष्ठ के महासचिव जीवराज चौहान का भी दलित कार्यकर्ताओं ने घेराव किया. कार्यकर्ताओं ने चौहान के खिलाफ नारेबाजी की , जिसके चलते उन्हें वहां से जाना पड़ा.

First published: 15 April 2018, 9:46 IST
 
अगली कहानी