Home » इंडिया » manohar parrikar disclose the reason why he leave the ministry of defence.
 

मनोहर पर्रिकर: कश्मीर के कारण छोड़ा रक्षा मंत्री का पद

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2017, 13:15 IST

 गोवा के सीएम पर्रिकर ने भारत रत्न बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की 126वीं जयंती के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में बड़ा खुलासा किया. गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने इस कार्यक्रम में बताया कि आखिर उन्होंने क्यों रक्षा मंत्री का पद छोड़ा.

गोवा के विधानसभा चुनाव में जब कम सीट लाने के बाद मनोहर पर्रिकर को अचानक दिल्ली से वापस भेजकर गोवा के सीएम पद की बागडोर दी थी, तब भाजपा के गोवा प्रभारी और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया था कि गोवा चुनाव के बाद भाजपा के साथ गठबंधन करने वाले सहयोगी दल एमजीपी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने ये मांग रखी है कि भाजपा की तरफ से मनोहर पर्रिकर को सीएम बनाया जाय.

आंबेडकर जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में पर्रिकर ने कहा, "दिल्ली में रक्षा मंत्री के तौर पर काम करने के दौरान कश्मीर जैसे मुद्दे उन कारणों में से थे, जिसके चलते मैंने गोवा वापस लौटने का फैसला किया."

उन्होंने आगे कहा, "मुझे जब मौका मिला तो मैंने गोवा वापस आने का निर्णय किया. जब आप केंद्र में होते हैं, आपको कश्मीर और अन्य मुद्दों से निपटना होता है."

चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले मनोहर पर्रिकर ने कहा कि दिल्ली उनके कार्यक्षेत्र का हिस्सा कभी नहीं रहा है. वह वहां पर काफी दबाव महसूस करते थे. मनोहर पर्रिकर का कहना है कि कश्मीर मुद्दे की समस्या को सुलझाना एक आसान काम नहीं  है और इसके लिए देश को एक दीर्घकालिक नीति बनाने की जरूरत है. कश्मीर जैसे मुद्दों पर कम चर्चा और अधिक कार्रवाई की जरूरत है, क्योंकि जब आप चर्चा करने के  लिए बैठते हैं तब मुद्दे जटिल हो जाते हैं.

हालांकि भाजपा प्रेस सेल की तरफ से जारी बयान में कहा गया, "गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कभी ऐसा बयान नहीं दिया कि रक्षा मंत्री के नाते काम करने के दौरान उनपर किसी तरह का दबाव था."

First published: 15 April 2017, 13:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी