Home » इंडिया » Manohar Parrikar takes oath as CM of Goa fourth time
 

गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में मनोहर पर्रिकर की चौथी पारी शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 March 2017, 19:18 IST

भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार शाम को गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में अपनी चौथी पारी शुरू की. मुख्यमंत्री पर्रिकर के साथ एमजीपी के मनोहर अजगांवकर और निर्दलीय विधायक रोहन खुंटे ने भी गोवा सरकार में मंत्री पद की शपथ ली.

राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. उस दौरान गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर भी वहां मौजूद थे. पर्रिकर ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्रियों वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी, जेपी नड्डा सहित शीर्ष पार्टी नेताओं और अन्य गणमान्यों की उपस्थिति में शपथ ली.

पर्रिकर के साथ ही नौ मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई. इनमें महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के सुदिन धवलीकर और मनोहर अजगांवकर तथा गोवा फॉरवर्ड के विजय सरदेसाई, विनोद पलिनकर व जयेश सालगांवकर और भाजपा के फ्रांसिस डिसूजा, पांडुरंग मडकैकर तथा निर्दलीय गोविंद गावडे व रोहन खाउंटे शामिल हैं.

इससे पहले मनोहर पर्रिकर को राज्यपाल ने सदन में अपना बहुमत साबित करने के लिए  15 दिनों का वक्त दिया था. लेकिन मंगलवार दोपहर कांग्रेस की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में डाली गई याचिका की सुनवाई करते हुए अदालत ने शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से मना करते हुए 16 मार्च तक पर्रिकर को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने का आदेश दिया था.

इस याचिका में कांग्रेस द्वारा राज्यपाल के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा गा था कि राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी उन्हेें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की बजाए कम सीटें हासिल करने वाली भाजपा को आमंत्रित किया गया.

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद मनोहर पर्रिकर ने घोषणा की कि भाजपा को सरकार बनाने के लिए जो समर्थन दिया गया है वह सिर्फ विकास के लिए ही है. कोई भी विधायक कांग्रेस का समर्थन नहीं करना चाहता.

इसके बाद कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पर्रिकर ने कहा कि अगर आपके पास सरकार बनाने का समर्थन था तो फिर आप राज्यपाल के पास क्यों नहीं गए.

उन्होंने कहा कि वे मानते हैं कि गोवा में किसी एक पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. लेकिन 22 विधायकों के एक साथ आ जाने से इन वोट शेयर पर्याप्त है. यह चुनाव के बाद का गठबंधन है.

First published: 14 March 2017, 19:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी