Home » इंडिया » manohar parrikar was strict while his stint at iit bombay
 

मनोहर पर्रिकर की अनोखी दास्तान- भूख से तड़प रहे थे IIT बॉम्बे के हॉस्टल के लोग, इसके बाद..

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 March 2019, 14:11 IST
(File photo)

केन्द्र के पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार की शाम को निधन हो गया. मनोहर पर्रिकर आईआईटी इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले देश के पहले मुख्यमंत्री थे. उन्होंने 1978 में आईआईटी मुंबई से इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट डिग्री हासिल की थी. मनोहर पर्रिकर आईआईटी बॉम्बे में मेस सेक्रटरी थे.

उनके साथ पढ़ाई करने वाले साथी उनके बारे में बताते हैं कि वे छात्रों और मेस वर्कर्स के साथ बहुत ही सख्ती से पेश आते थे. उनके साथ पढ़ाई करने वाले एक साथ ने बताया कि जो भी हॉस्टल के नियमों का पालन नहीं करता था उसपर वे जुर्माना लगाने में पीछे नहीं रहते थे.

कुछ समय पहले पर्रिकर आईआईटी बॉम्बे के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए थे. उस दौरान उन्होंने अपने हॉस्टल के पुराने दिनों को याद किया था. उनके एक साथी ने कॉलेज के दिनों का एक किस्सा सुनाते हुए बताया, "मेस वर्कर्स ने एक दिन लंच टाइम में हड़ताल पर जाने का फैसला किया. पर्रिकर उस वक्त 40 लड़कों के साथ मेस में पहुंचे और पूरे हॉस्टल के लिए खाना बनाया. वह दुनिया का सबसे अच्छा खाना था. उस घटना के बाद वर्कर्स काम पर लौट आए थे."

पर्रिकर अपने कॉलेज के दिनों में इतने सख्त व्यक्ति थे कि वे हर छोटी से छोटी बातों का ध्यान रखते थे. बताया जाता है कि एक बार पर्रिकर ने मेस वर्कर्स को अपनी लुंगी में सब्जियां चुराते हुए पकड़ लिया.

इतना ही नहीं पर्रिकर के साथी बताते हैं कि पर्रिकर इतने ज्यादा सख्त थे कि वे खुद पर भी फाइन लगा देते थे. उनके साथी ने बताया कि मनोहर पर्रिकर हिसाब-किताब के मामले में काफी सख्त थे. उनके साथी ने एक कॉलेज के दिनों का एक किस्सा बताया कि जब पर्रिकर से उनके रिश्तेदार मिलने आए थे तो उनके रिश्तेदार ने कॉलेज परिसर से फूल तोड़ा तो पर्रिकर ने खुद पर ही फाइन लगा लिया था.

First published: 18 March 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी