Home » इंडिया » Mayawati counter attacks Swami Prasad Maurya: Maurya wants ticket for his family
 

स्वामी प्रसाद मौर्य पर बरसीं मायावती, कहा- परिवार के लिए चाहते थे टिकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2016, 16:39 IST
(फाइल फोटो)

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने स्वामी प्रसाद मौर्य के आरोपों पर पलटवार किया है. मायावती ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए टिकट बंटवारे में भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज कर दिया.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी सुप्रीमो मायावती पर राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पैसे लेकर टिकट बांटने का आरोप लगाया है. मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मौर्य पर जमकर निशाना साधा.

मायावती ने कहा कि हकीकत यह है कि स्वामी प्रसाद मौर्य अपने बेटे और बेटी के लिए विधानसभा चुनाव में टिकट चाहते थे और इस तरह से वह परिवारवाद को बढ़ावा दे रहे थे. 

'इस्तीफा नहीं देते, तो निकाल देती'

मायावती ने स्वामी प्रसाद मौर्य के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि टिकटों के बंटवारे में पैसे लेने की बात पूरी तरह से मनगढ़ंत है. मायावती ने साथ ही कहा कि अगर मौर्य पार्टी से इस्तीफा नहीं देते तो वह उन्हें खुद ही पार्टी से निकाल देतीं. 

बहुजन समाज पार्टी के महासचिव और यूपी विधानसभा में नेता विपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य ने मायावती पर टिकटों की नीलामी का आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

पढ़ें: यूपी में मायावती को बड़ा झटका, स्वामी प्रसाद मौर्य का बसपा से इस्तीफा

माना जा रहा है कि मौर्य अब समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. साथ ही उनको 27 जून को होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में जगह मिलने की भी संभावना है. हालांकि अभी तक मौर्य ने यह नहीं साफ किया है कि वह किस पार्टी का दामन थामने जा रहे हैं.

'बसपा में टिकटों की नीलामी'

स्वामी प्रसाद मौर्य ने पार्टी छोड़ने से पहले सीधे बीएसपी अध्यक्ष मायावती को कठघरे में खड़ा किया है. मौर्य ने आरोप लगाया है कि उन्होंने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पैसे लेकर टिकटों का बंटवारा किया है.

पार्टी छोड़ने के अपने फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, "बहुजन समाज पार्टी में टिकट की नीलामी हो रही है." 

'दलित नहीं दौलत की बेटी'

मौर्य ने मायावती पर टिकटों की बोली लगाने का आरोप लगाते हुए पार्टी महासचिव पद से इस्तीफा दिया है. मौर्य ने कहा कि बीएसपी सुप्रीमो, कांशीराम और अंबेडकर से रास्ते भटक गई हैं.

मौर्य ने इस दौरान कहा, "मायावती दलित नहीं, दौलत की बेटी हैं. मायावती ने पिछले चुनाव से सबक नहीं लिया."

First published: 22 June 2016, 16:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी