Home » इंडिया » MEA statement China is obstructing the patrolling of India on the LAC
 

विदेश मंत्रालय का बयान- भारत को बॉर्डर पर गश्‍त लगाने में बाधा डाल रहा है चीन

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 May 2020, 20:12 IST

India China Relation: भारत और चीन के बीच इन दिनों बॉर्डर पर तनाव चल रहा है. इस बीच भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से बयान आया है कि चीन उसे लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानि LAC पर पेट्रोलिंग करने में बाधा पहुंचा रहा है. 

विदेश मंत्रालय की तरफ से बयान आया कि भारत चीन की सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए काम कर रहा है. वहीं चीन की तरफ से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर भारतीय गश्त में बाधा डालने का प्रयास किया जा रहा है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय सैनिक सीमा सुरक्षा के लिये निर्धारित प्रक्रियाओं का पालन करते हैं, लेकिन चीन ऐसा नहीं कर रहा है.

बता दें कि पिछले महीने भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच बॉर्डर पर झड़प की खबरें सामने आई थीं. तब उत्तरी सिक्किम और लद्दाख में पैगोंग झील के पूर्वी किनारे पर दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने आए थे. दोनों तरफ से कुछ सैनिक इस झड़प में हुई मारपीट में घायल हुए थे.

25 मई से शुरू घरेलू उड़ानें शुरू, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार ने बताया- कितना होगा टिकट का किराया 

दरअसल, गालवान नदी बेसिन से सटे नॉर्थ पैगोंग की स्थिति भारत के लिए चिंता का विषय है. दोनों देशों ने इस क्षेत्र में अभी अतिरिक्त बल तैनात किया है. मंगलवार को चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स में लिखा गया कि सेना की टुकड़ी ने  गालवान घाटी क्षेत्र में अपने बचाव को तेज कर दिया है. इसमें लिखा गया था कि भारतीय का र्रवाई के जवाब में यह आवश्यक कदम उठाया गया हैं.

मुखपत्र में लिखा गया था कि भारत सीमा पर अवैध रूप से गालवान घाटी क्षेत्र में रक्षा सुविधाओं का निर्माण कर रहा है. चीन ने इसे अपना क्षेत्र बताया और कहा कि डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के बीच यह एक बड़े विवाद का संकट हो सकता है.

कश्मीर: BSF जवान को खोलना था रोजा तो गए थे रोटी लेने, आतंकियों ने ताबड़तोड़ चलाई गोली, हो गए शहीद

पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान का कहर, 72 लोगों ने गंवाई जान, 5500 घर हो गए तबाह 

First published: 21 May 2020, 20:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी