Home » इंडिया » Meet Neem Karoli Baba Who Inspired Steve Jobs, Mark Zuckerberg
 

सिलिकॉन वैली भी है देवभूमि के इस मंदिर के चमत्कार के आगे नतमस्तक

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2018, 18:19 IST

उत्तराखंड को देवभूमि कहा जाता है और सात- समंदर से भी बड़ी संख्या में श्रद्घालु यहां आते हैं. अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाईवे पर शिप्रा नदी के तट पर स्थित आस्था का विश्व प्रसिद्द कैंची धाम भी इसीलिए जाना जाता है. हर साल 15 जून से होने वाले नैनीताल के कैंची धाम मेले में देश-विदेश से लाखों भक्त पहुंचते हैं.

मान्यता है कि नीम करौली बाबा के पास ऐसी अलौकिक शक्तियां मौजूद थी जिससे वो लोगों के दुखों को समझ लेते थे. उनके इस अध्यात्म से सिलिकॉन वेली भी अछूती नहीं रही. दुनिया की जानी-मानी मोबाइल कंपनी एप्पल के सस्थापक स्टीव जॉब्स को 80 के दशक में अपने मुश्किल वक़्त में बाबा की शरण में आना पड़ा था. 

एक किताब में जॉब्स ने खुद इस बात की पुष्टि की है. यहां के अध्यात्म से वह बेहद प्रभावित हुए और सोशल मीडिया की दिग्गज फेसबुक के सस्थापक मार्क जकरबर्ग को भी उन्होंने कैंची धाम जाने के लिए प्रेरित किया.

जिस वक्त मार्क जकरबर्ग यहां पहुंचे उस वक्त वे अपने करियर के मुश्किल दौर से गुजर रहे थे. जकरबर्ग ने खुद इस बात का खुलासा किया था कि उन्हें कैंची धाम का अपना अनुभव एप्पल के सस्थापक मार्क जकरबर्ग ने बताया था. जकरबर्क इसके बाद ही यहां पहुंचे थे. जकरबर्ज ने उस वक्त कैंची धाम में तकरीबन पूरा एक हफ्ता गुजारा था. इस एक हफ्ते के समय ने ही जकरबर्ग को नई ऊर्जा से ओतप्रोत कर दिया.

 

जॉब्स 1974 से 1976 के बीच कुछ महीनों के लिए वे भारत आए थे. उनके भारत आने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है. जुकरबर्ग कहते हैं कि उन्हें स्टीव जॉब्स ने भारत आने की सलाह दी थी उसी तरह जॉब्स को भी उनके एक दोस्त और मार्गदर्शक रॉबर्ट फ्रीडलैंड ने यही सलाह दी थी. 2011 में आई किताब ‘स्टीव जॉब्स’ में वॉल्टर आईजेक्सन लिखते हैं कि रॉबर्ट 1973 में भारत आए थे और नीम करौली बाबा के भक्त बन गए थे.

एक रिपोर्ट लके अनुसार रॉबर्ट खनन क्षेत्र की कंपनी इवान्हो माइन्स के सीईओ हैं और फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार तकरीबन करीब एक से डेढ़ अरब डॉलर के मालिक हैं. किताब ‘स्टीव जॉब्स’ में लिखा गया है कि उनके लिए भारत की यात्रा अपने लिए गुरू की तलाश थी और वे यहां आध्यात्मिक यात्रा पर आना चाहते थे.

First published: 15 June 2018, 17:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी