Home » इंडिया » meghalaya assembly election 2018: congress wrote letter to governor claims for form government in meghalaya
 

मेघालय: गोवा-मणिपुर जैसा ना हो जाए हाल, इसलिए कांग्रेस जल्द बनाना चाहती है सरकार!

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2018, 9:09 IST

मेघालय का हाल भी गोवा और मणिपुर जैसा न हो जाए इससे पहले कांग्रेस ने कमर कस ली है. मेघालय में सरकार बनाने की कवायद में जुटी कांग्रेस ने आज सुबह ही राज्यपाल से मुलाकात की. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने राज्यपाल से मिलकर राज्य में सरकार बनाने के लिए दावा पेश कर दिया. कांग्रेस ने राज्यपाल को चिट्ठी भी लिखी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राज्यपाल को लिखी चिट्ठी में कांग्रेस ने कहा कि विधानसभा चुनाव के आए रिजल्ट में कांग्रेस पार्टी 21 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है और सरकार बनाना चाहती है. कांग्रेस के बड़े नेताओं अहमद पटेल, कमलनाथ और मुकुल वासनिक एक दिन पहले ही मेघालय पहुंच हैं.

 

शनिवार(3 मार्च) को आए नतीजों में स्पष्ट है कि मेघालय विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल पाया है. फिलहाल राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने सबसे ज्यादा 21 सीटें जीती हैं. भाजपा की संभावित साझीदार नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) ने 19 सीटें जीती हैं. जबकि खुद भाजपा ने 2 सीटें हासिल की हैं.

 

कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनाने के अपने प्रयास में मेघालय के सभी क्षेत्रीय दलों के संपर्क में हैं. कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी पर धनबल का इस्तेमाल कर कांग्रेस को सत्ता से बाहर रखने की कोशिश करने का आरोप लगाया.

कमलनाथ ने कहा कि त्रिपुरा में भाजपा ने वाममोर्चा को सत्ता से बेदखल कर दिया है, लेकिन त्रिपुरा की जनता को जल्द ही समझ में आ जाएगा कि उनको गहरा आघात लगने वाला है. कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस त्रिपुरा में मुख्य मुकाबले में नहीं थी.

बता दें कि मणिपुर की 60 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस को 28 सीटें मिली थीं जबकि बीजेपी सिर्फ 21 सीटें जीत पाई थी. बीजेपी ने सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के कुछ बागी विधायकों से हाथ मिला लिया और कांग्रेस सिर्फ हाथ मलती रह गई थी.

First published: 4 March 2018, 9:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी