Home » इंडिया » Menka gandhi instructed the states to inspect immediately all missionary of charity
 

मेनका गांधी ने दिए राज्यों को निर्देश, सभी मिशनरियों की तुरंत हो जांच

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 July 2018, 9:45 IST

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने झारखंड में मिशनरी ऑफ चैरिटी द्वारा किए गए अवैध गोद लेने के मामले को संज्ञान लेते हुए राज्य को निर्देश दिए. मेनका गांधी ने राज्य को निर्देश दिए कि पूरे देश में चैरिटी के मिशनरी की तुरंत जांच की जाए.

इसके पहले भी मेनका गांधी ने बॉलीवुड के प्रोडक्शन हाउस को तलब किया है. इन्होने निर्देश दिए थे कि बॉलिवुड के प्रोडक्शन हाउस की इंटरनल शिकायत कमेटी (आईसीसी) के पास आने वाली यौन शोषण की शिकायतों की एक रिपोर्ट बना कर उन्हें भेजी जाए.

 

No data to display.

मेनका गांधी ने ट्वीट किया, "एक जिम्मेदार कर्मी के तौर पर सभी लोग कानून का पालन करने के लिए बाध्य हैं. मैं बॉलीवुड की सभी निर्माण कंपनियों को ऐसा करने तथा उनके द्वारा गठित आंतरिक शिकायत समिति में दर्ज शिकायतों की रिपोर्ट सौंपने का आग्रह करती हूं."

ये भी पढ़ें- सर्जिकल स्ट्राइक मामले में मनोहर पर्रिकर का कांग्रेस पर तंज- सेना को राहुल गांधी को साथ ले जाना चाहिए था

मेनका गांधी ने इस मामले में 2013 यौन शोषण अधिनियम के तहत 24 मुख्य फिल्म निर्माता कंपनियों को तालाब किया था. गांधी ने कानून का हवाला देते हुए कहा कि सभी कर्मियों को सुरक्षित माहौल में काम करने का अधिकार है. उन्होंने कहा, "यह जानना उत्साहित करने वाला है कि बॉलीवुड की सात निर्माण कंपनियों ने मेरे आग्रह को पहले ही स्वीकार कर लिया है और वे कार्यस्थल पर यौन शोषण अधिनियम से जुड़ गई हैं."

 

ये कदम पिछले साल मी टू कम्पैन के बाद उठाया गया था. इसके बाद बॉलीवुड की कई अभिनेत्रियों ने भी फिल्म इंडस्ट्री में अपने साथ हुए यौन शोषण के बारे में खुलकर बाते की थीं.

ये भी पढ़ें- भारतीय सेना में अब नहीं बनेगा कोई ब्रिगेडियर, आर्मी ने खत्म किया पद

First published: 17 July 2018, 9:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी