Home » इंडिया » #MeToo: Amit Shah defend MJ Akbar says sexual harassment charges against him to be examined
 

#MeToo: एमजे अकबर पर यौन शोषण के आरोप के बाद पहली बार अमित शाह ने दिया बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2018, 11:57 IST

#MeToo कैंपेन के तहत मोदी सरकार में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर अब तक 10 महिलाओं ने सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए हैं. इस पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देखेंगे कि उनपर लगे यह आरोप सही है या नहीं. 

अमित शाह ने कहा कि देखना पड़ेगा कि यह सच है या गलत. हमें उस शख्स के पोस्ट की सत्यता जांचनी होगी, जिसने आरोप लगाए हैं. मेरा नाम इस्तेमाल करते हुए भी आप कुछ भी लिख सकते हैं. शाह ने कहा कि इस पर जरूर सोचेंगे. हालांकि शाह ने यह नहीं बताया कि उन पर कार्रवाई की जाएगी या नहीं.

पढ़ें- #MeToo: एमजे अकबर पर विदेशी पत्रकार का खुलासा, कहा- 18 साल की उम्र में मेरे साथ की थी जबरदस्ती

बता दें कि एमजे अकबर पर अब तक 10 महिलाओं ने सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए हैं. आज एक विदेशी महिला पत्रकार ने भी उन पर आरोप लगाए. नीदरलैंड की एक महिला पत्रकार ने अकबर पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि वह 18 साल की थी जब उसने 2007 में नई दिल्ली में एक अंग्रेजी अखबार के लिए रिपोर्टिंग शुरू की थी. महिला ने बताया कि अकबर उसके पिता के दोस्त थे. इसके बावजूद उन्होंने उसे नहीं छोड़ा.

नीदरलैंड की पत्रकार ने अपने ऊपर हुए शोषण पर बताया कि एक बार वे मेरी डेस्क के पास आए. सम्मान में मैं खड़ी हो गई. उन्होंने मेरे कंधों के नीचे हाथ रखा और मुझे जकड़ लिया. इसके बाद उन्होंने जबर्दस्ती मुझे किस किया. 

पढ़ें- 10वीं की छात्रा ने आंसर सीट में लिखा- चचेरा भाई रात में मेरे कमरे में आता है और.. पढ़कर टीचर के उड़े होश

अकबर पर लगातार सामने आ रहे आरोपों पर कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा है. इसी को लेकर अमित शाह का ये बयान सामने आया है. गौरतलब है कि मोदी सरकार ने ऐसे मामलों की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया है. महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बताया कि वरिष्ठ न्यायविद् और कानून के पेशे से जुड़े लोग इस कमेटी के मेंबर होंगे और सारे मामलों की जांच करेंगे.

First published: 13 October 2018, 11:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी