Home » इंडिया » #MeToo: Editors Guild urges MJ Akbar to withdraw defamation case against journalist Priya Ramani
 

एमजे अकबर पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा वापस लें : एडिटर गिल्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 October 2018, 14:25 IST

एडिटर गिल्ड ऑफ़ इंडिया ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर से पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ आपराधिक मानहानि की शिकायत वापस लेने के लिए कहा है. रमानी ने एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.

एडिटर गिल्ड के पूर्व अध्यक्ष रह चुके अकबर ने 16 महिलाओं द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने के बाद बुधवार को विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया एडिटर गिल्ड ने एक बयान में कहा, "एमजे अकबर के पास नागरिक के रूप में सभी कानूनी प्रावधानों का इस्तेमाल करने का अधिकार है.

लेकिन आपराधिक मानहानि का दावा करना किसी मशहूर संपादक के लिए कायदे से परे है.' दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में गुरुवार इस मामले पर सुनवाई होनी थी.

गिल्ड ने उन महिलाओं के पत्रकारों की भी प्रशंसा की जिन्होंने अकबर और कथित यौन उत्पीड़न के बारे में बात की थी. गिल्ड ने कहा "एमजे अकबर का इस्तीफा इन महिला पत्रकारों के साहस का परिणाम है इस मुद्दे के खिलाफ लड़ रही हैं. एमजे अकबर को पद से हटाने के लिए लगातार सरकार पर दबाव था. कई महिलाओं द्वारा उन पर यौन शोषण के आरोप लगाए जाने के बाद बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ जैसा सरकार का अभियान निशाने पर आ गया था.

यहां तक कि खुद बीजेपी की कई महिला मंत्री और नेता चाहते थे कि मामले की जांच होने तक अकबर को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. ऐसे मामलों से निपटने के लिए मोदी सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने एक समिति बनाने का भी सुझाव दिया था. हालांकि सरकार अभी उसपर संज्ञान नहीं ले पाई है.

First published: 18 October 2018, 14:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी