Home » इंडिया » #MeToo: US based journalist accused MJ Akbar for Rape in Washington Post news Paper
 

#MeToo: यौन उत्पीड़न के बाद अब एमजे अकबर पर इस पत्रकार ने लगाया रेप का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2018, 11:33 IST

यौन उत्पीड़न के आरोपों के चलते पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर अब एक भारतीय-अमेरिकी पत्रकार ने रेप का आरोप लगाया है. ये भारतीय-अमेरिकी पत्रकार एनपीआर की चीफ बिजनेस एडिटर पल्लवी गोगोई हैं. पल्लवी ने अकबर पर यौन शोषण और रेप का आरोप लगाया है. वाशिंटन पोस्ट के लिए लिखे एक ब्लॉग में गोगोई ने आरोप लगाया कि सालों पहले जब वो एशियन एज में काम करती थीं. तब एमजे अकबर ने उनका रेप किया था.

वॉशिगंटन पोस्ट में लिखे ब्लॉग में बताई आपबीती

एनपीआर की चीफ बिजनेस एडिटर पल्लवी गोगोई ने अमेरिका के वॉशिंगटन पोस्ट वेबसाइट में एक ब्लॉग लिखकर अकबर की हरकतों के बारे में बताया है. गोगोई ने वाशिंटन पोस्ट में छपे अपने अपने ब्लॉग में लिखा, ''मैं 22 साल की थी जब मैं एशियन एज में काम करने गई, जहां अधिकतर महिलाएं थीं. हम सभी अकबर के साथ काम कर के खुश थे, उनका पत्रकारिता में काफी नाम था.''

गोगोई ने नौकरी के दौरान अकबर के उनके साथ व्यवहार के बारे में लिखा. पल्लवी ने ब्लॉग में लिखा, ''ऐसा कोई दिन नहीं था जब अकबर उनमें से किसी पर चिल्लाते नहीं थे, लेकिन हर कोई इसे सहता.''

पल्लवी ने अपने साथ हुए बुरे व्यवहार को लेकर विस्तार से ब्लॉग में लिखा है. गोगोई ने बताया कि 23 साल की उम्र में अकबर ने उन्हें ओप-एड पन्ने का एडिटर बना दिया. इस बारे में उन्होंने कहा, ''इतनी कम उम्र में ये एक बड़ी जिम्मेदारी थी, लेकिन अपनी पसंदीदा नौकरी के लिए मैं जल्द ही बड़ी कीमत अदा करने जा रही थी. ये 1994 की गर्मियों की बात है जब मैं उनके कमरे में पेज और हेडलाइन दिखाने दई थी. उन्होंने मेरे प्रयास की तारीफ की और फिर मुझे किस करने को बढ़े. मैं बैलेंस खोकर ऑफिस से बाहर निकल गई.''

पल्लवी ने बताया कि ये एक बार होने वाली घटना नहीं थी, एकबार ने कुछ दिनों बाद फिर से ऐसा किया, पल्लवी लिखती हैं, ''मैं भागने लगी तो उन्हें मेरा चेहरा नोचा''

आगे उन्होंने लिखा, ''मुझे एक मैगजीन की लॉन्चिंग में मदद के लिए बॉम्बे बुलाया गया. उन्होंने लेआउट देखने के लिए मुझे अपने फैंसी ताज होटल के कमरे में बुलाया. जब वो मुझे किस करने के लिए आगे बढ़े तो मैं उनसे लड़ी और उन्हें पीछे धकेल दिया. मैं भागने लगी तो उन्हें मेरा चेहरा नोचा. जब मैं वापस दिल्ली आई तो अकबर ने मुझे धमकी दी कि अगर मैंने उन्हें दोबारा रोका तो मुझे नौकरी से निकाल देंगे, लेकिन मैंने अपनी नौकरी नहीं छोड़ी. इस घटना के बाद एक स्टोरी मुझे दिल्ली से दूर ले गई. ये असाइनमेंट जयपुर में खत्म होना था.''

#MeToo: एमजे अकबर पर विदेशी पत्रकार का खुलासा, कहा- 18 साल की उम्र में मेरे साथ की थी जबरदस्ती

पल्लवी ने ये भी लिखा है कि अकबर उन पर एक तरीके से एकाधिकार जमाने की कोशिश करते थे. अपने ब्लॉग में पल्लवी ने लिखा कि एक बार लंदन ऑफिस में अकबर ने उन्हें एक पुरुष कर्मचारी से बात करते देखा तो इस बात पर अकबर ने पल्लवी को मारा था और कैंची से लेकर पेपरवेट तक उनपर फेंक दिया था. इस बारे में जिक्र करते हुए पल्लवी ने लिखा, ''मैं इसके बाद घंटों रोती रही. मैं इमोशनली, फिजिकली, मेंटली टूट चुकी थी. मैं जानती थी कि मुझे इससे बाहर निकलना है.'' इस घटना के बाद पल्लवी ने नौकरी छोड़ न्यूयॉर्क में दूसरी कंपनी ज्वाइन की.

First published: 2 November 2018, 11:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी