Home » इंडिया » MHRD ask information Professors cast and religion in all educational institutional
 

HRD ने देश भर के शिक्षण संस्थानों से मांगी Professors के जाति-धर्म की जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 April 2017, 13:42 IST
prakash javdekar

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) ने देश के विभिन्न यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में पढ़ा रहे टीचर्स और प्रोफेसर्स के फोन नंबर, जाति और धर्म से लेकर आधार जैसी व्यक्तिगत जानकारी मांगी है.

बताया जा रहा है कि इसके पीछे मंत्रालय की यह मंशा है कि वह इसके जरिए पता लगा सकेगी कि कितने फर्जी टीचर्स मौजूदा समय में देश के विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में पढ़ा रहे हैं.

इसके अलावा मंत्रालय ने पिछले चार महीनों ‘फर्जी टीचर्स’ का पता लगाने और एक नेशनल टीचर्स पोर्टल तैयार करने के लिए लगभग 15 लाख यूनिवर्सिटी और कॉलेज टीचर्स में से 60 फीसदी की प्रोफाइल तैयार कर ली है.

सूचना के मुताबिक इसी टीचर्स पोर्टल में टीचर्स के फोन नंबर, जाति और धर्म से लेकर आधार जैसी सूचना भी डाली गई है.

इस मामले में HRD के अतिरिक्त सचिव आर सुब्रमण्यम ने बताया, “हमारा मानना है कि देश में कई फर्जी लेक्चरार हैं. ऐसे कई शिक्षक हैं जो एक से ज्यादा गैर सरकारी इंस्टिट्यूट में काम कर रहे हैं. आधार कार्ड जैसी व्यक्तिगत जानकारी से ऐसे शिक्षकों का पता लगाने में मदद मिलेगी.”

First published: 27 April 2017, 13:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी