Home » इंडिया » MIM party president Asaduddin Owaisi will support No Confidence motion against modi govt in Lok Sabha
 

अविश्वास प्रस्ताव को ओवैसी का समर्थन, बोले- सरकार युवाओं को रोजगार, मुस्लिमों को नहीं दे पाई सुरक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 March 2018, 12:21 IST

आंध्र प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है. जिसका समर्थन अभी तक एनडीए में रही टीडीपी ने किया है. इसी के साथ एनडीए से टीडीपी बाहर हो गई है.

इसके बाद तमाम विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार के खिलाफ लाए जा रहे अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने का ऐलान किया है. AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन का ऐलान किया है. ओवैसी ने कहा कि मोदी सरकार युवाओं को रोजगार मुहैया कराने, मुस्लिम महिलाओं और अल्पसंख्यकों के अन्याय के लिए अपने वादे को पूरा करने में विफल रही है.

लोकसभा चुनाव को लेकर यूपीए के दायरे को बढ़ान की कोशिश में कांग्रेस ने भी अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने की बात कही है. वामदलों ने भी अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन देने का ऐलान किया है.

सीपीआईएम के नेता सीताराम येचुरी ने अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि आंध्र प्रदेश के साथ धोखे को माफ नहीं किया जा सकता है. नाकामी और संसदीय जिम्मेदारी को लेकर अब इस सरकार को अब सबके सामने लाने की जरूरत है.

 

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी टीएमसी की नेता ममता बनर्जी ने भी टीडीपी के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि इस समय जो हालात हैं उससे इस तरह के कदम उठाने की जरूरत है. ममता बनर्जी ने कहा, "मैं सभी राजनीतिक दलों से अपील करती हूं कि सभी मिलकर काम करें."

पढ़ें- TDP के NDA छोड़ने पर ममता बोली- सभी विपक्षी दल साथ आकर अत्याचार से लड़ें

वहीं सरकार के खिलाफ ला जाए रहे अविश्वास प्रस्ताव पर बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, 'देखेंगे कि संसद में कौन सा दल किसके साथ जाता है.' उन्होंने कहा कि यह चुनावी साल है. हर राज्य की अपनी मांगें और मुद्दे हैं. मेरे लिए इस पर कुछ कहना ठीक नहीं होगा. यह एक परंपरा है कि चुनाव से पहले संसद में एक ऐसा रिहर्सल होता है.

First published: 16 March 2018, 12:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी