Home » इंडिया » Ministry of AYUSH ask Patanjali to stop advertising or publicising of Coronil
 

बाबा रामदेव को बड़ा झटका, आयुष मंत्रालय ने COVID-19 की दवा कोरोनिल के विज्ञापन पर लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2020, 18:55 IST

Coronavirus: बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने आज दोपहर 12 बजे कोरोना वायरस के इलाज के लिए एक आयुर्वेदिक दवा लॉन्च की थी. पतंजलि ने दावा किया था कि कंपनी द्वारा विकसित आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल कोरोना वायरस रोगियों को 5 से 14 दिनों के भीतर ठीक करने में सक्षम है. अब पतंजलि को बड़ा झटका देते हुए केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक लगा दी है.

केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने कहा है कि बिना मानक की जांच कराए किसी भी दवा के विज्ञापन पर अगले आदेश तक रोक रहेगी. आयुष मंत्रालय ने पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड द्वारा कोरोना वायरस उपचार के लिए बनाई गई आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में मीडिया में आई खबरों का संज्ञान लिया. इसके बाद कंपनी को दवाओं का विवरण प्रदान करने तथा इस तरह के दावों को प्रचारित करने पर रोक लगाने को कहा है.

दवा का नाम (Coronil tablet) कोरोनिल टेबलेट रखा गया है. बाबा रामदेव ने दवा की लॉन्चिंग के मौके पर कहा था कि यह इम्युनिटी बूस्टर नहीं बल्कि एक इलाज है. उन्होंने बताया था कि कोरोना किट की डिलीवरी के लिए एक ऐप लॉन्च किया जाएगा. बाबा रामदेव ने कहा था कि हमें ये कहते हुए गौरव अनुभव हो रहा है कि कोरोना की पहली आयुर्वेदिक, क्लीनिकली कंट्रोलड, ट्रायल, एविडेंस और रिसर्च आधारित दवा पतंजलि रिसर्च सेंटर और NIMS के संयुक्त प्रयास से तैयार हो गई है.

Coronavirus : बाबा रामदेव की पतंजलि ने लॉन्च की कोविड-19 की दवा, पढ़िए क्या है दावा

बाबा ने कहा था कि दवाई पर दो ट्रायल किए गए हैं. उन्होंने दावा किया था कि 100 लोगों पर क्लीनिकल स्टडी की गई उसमें 95 लोगों ने हिस्सा लिया. 3 दिन में 69 प्रतिशत मरीज़ ठीक हो गए. 7 दिन में 100% मरीज़ ठीक हो गए. पतंजलि ने दावा किया है कि कोरोनिल का क्लिनिकल ट्रायल संयुक्त रूप से पतंजलि अनुसंधान संस्थान, हरिद्वार और राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान संस्थान जयपुर द्वारा किया गया.

बाबा रामदेव ने बताया था कि COVID-19 के प्रकोप के बाद वैज्ञानिकों की एक टीम नियुक्त की गई थी. इसके लिए सबसे पहले सिमुलेशन किया गया था और कंपाउंड्स की पहचान की गई थी जो वायरस से लड़ सकते हैं और शरीर में इसके प्रसार को रोक सकते हैं.

कोरोना वायरस के बढ़ते मामले पर दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने गृृहमंत्री अमित शाह को लिखा पत्र

दिल्ली हिंसा : जामिया की छात्रा सफूरा जरगर को दिल्ली हाईकोर्ट ने इन शर्तों पर दी जमानत

First published: 23 June 2020, 18:48 IST
 
अगली कहानी