Home » इंडिया » Ministry of Defence replies to RTI no data of Surgical Strikes during UPA regime
 

कांग्रेस का दावा निकला झूठा ! रक्षा मंत्रालय ने बताया- UPA के शासनकाल मेंं नहीं हुई कोई सर्जिकल स्ट्राइक

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 May 2019, 19:10 IST

कांग्रेस नेताओं का वह दावा झूठा साबित हुआ जिसमें उन्होंने दावा किया था कि UPA के कार्यकाल के दौरान 6 सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी. रक्षा मंत्रालय ने एक RTI के जवाब में यह जानकारी दी है. जम्मू स्थित एक कार्यकर्ता ने RTI दाखिल कर इस बाबत सवाल पूछा था जिसके जवाब में रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि उन्हें 2016 से पहले भारतीय सेना द्वारा किए गए किसी भी सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

इंडिया टुडे की खबर के अनुसार, RTI के जवाब में रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि उसके पास केवल एक सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में जानकारी है. यह सर्जिकल स्ट्राइक उरी में हुए आतंकी हमले के बाद 29 सितंबर 2016 को हुई थी.

जम्मू के RTI कार्यकर्ता रोहित चौधरी ने इस बाबत सवाल पूछा था. दायर आरटीआई में रोहित ने साल 2004 से 2014 के बीच यूपीए सरकार के शासनकाल में सर्जिकल स्ट्राइक का विवरण मांगा था. इसके जवाब में DGMO के माध्यम से रक्षा मंत्रालय ने यह जवाब दिया है. रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि 29 सितंबर को सीमा रेखा पार पर भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी. 

गौरतलब है कि हाल ही में कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने मीडिया में दावा किया था कि यूपीए सरकार के शासनकाल के दौरान भारतीय सेना ने छ: सर्जिकल स्ट्राइक की थी. शुक्ला ने दावा किया था कि मनमोहन सिंह के शासनकाल में 6 बार सर्जिकल स्ट्राइक वहीं बीजेपी के अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भी दो बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी. कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि एक सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले लोग चुनाव में फायदे के लिए अपनी पीठ थपथपा रहे हैं.

राहुल गांधी से मिलती थी शक्ल, इस व्यक्ति ने चिढ़कर बदल लिया अपना लुक, बोले- नहीं पसंद कांग्रेस अध्यक्ष

दुनिया को बेवकूफ बनाने के चक्कर में खुद उल्लू बना पाकिस्तान, खोद डाला समंदर नहीं मिला खजाना

First published: 7 May 2019, 19:10 IST
 
अगली कहानी