Home » इंडिया » Ministry of external affairs change rule now address verification waived for passport
 

खुशखबरी: पासपोर्ट के लिए विदेश मंत्रालय ने उठाया बड़ा कदम, खत्म की सबसे बड़ी मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2018, 12:49 IST

अब पासपोर्ट बनवाना और आसान हो गया है. पासपोर्ट आवेदनकर्ताओं को एड्रेस वेरिफिकेशन के लिए अब पुलिस स्टेशन नहीं जाना पड़ेगा. पुलिसवाले आपके दरवाजे भी नहीं आएंगे. दरअसल, सुषमा स्वराज के मंत्रालय ने पुलिस रिपोर्ट के लिए पता सत्यापन प्रकिया को हटा लिया है. नई प्रक्रिया के तहत पुलिस को किसी तरह की पूछताछ के लिए आवेदनकर्ताओं को बुलाने या उनके घर जाने की जरूरत नहीं होगी.

इस बाबत अहमदाबाद की रीजनल पासपोर्ट अधिकारी ने आवेदनकर्ताओं द्वारा उठाई जाने वाली परेशानी के बारे में बताया. पासपोर्ट अधिकारी नीलम रानी ने बताया कि कई आवेदनकर्ता यह शिकायत कर चुके हैं कि पासपोर्ट के लिए जरूरी एड्रेस वेरिफिकेशन के लिए पुलिसवालों के द्वारा उनका उत्पीड़न किया जाता है. वह इसके लिए पैसे की मांग करते हैं.

 

साथ ही इससे प्रक्रिया में देरी होती है. जिसे देखते हुए विदेश मंत्रालय ने नियमों में ढील दी है. रानी ने बताया कि पुलिस को आवेदक के साथ कोई संपर्क किए बिना जांच करनी होगी कि उसकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि रही है या नहीं, इसके बाद उसे रीजनल पासपोर्ट ऑफिस को वापस सूचना देनी होगी. ऐसा पुलिस रिकॉर्ड्स की जांच करके किया जाएगा.

बता दें कि 26 जून को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एमपासपोर्ट सेवा मोबाईल ऐप लॉन्च किया है. इस ऐप के माध्यम से आवेदक देश के किसी भी कोने से पासपोर्ट के लिए आवेदन कर सकता है.

पढ़ें- कर्नाटक में फिर BJP सरकार की सुगबुगाहट, JDS-कांग्रेस मतभेद के बीच पार्टी ने बुलाई अहम बैठक

एमपासपोर्ट सेवा ऐप छठे पासपोर्ट सेवा दिवस के मौके पर लॉन्च किया गया. यह ऐप एंड्रॉयड और आईओएस मंच पर उपलब्ध है और इसके जरिए आवेदक आवेदन, भुगतान और पासपोर्ट सेवा के लिए मुलाकात का समय सुनिश्चित कर सकता है.

First published: 30 June 2018, 12:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी