Home » इंडिया » Missing JNU student: VC released after 24 hour 'illegal confinement'
 

जेएनयू नजीब कांड: 24 घंटे से बंधक कुलपति मुक्त कराए गए, देखें वीडियो

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 October 2016, 15:23 IST

24 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद जेएनयू में बंधक संकट खत्म हो गया है. 15 अक्टूबर से लापता छात्र नजीब अहमद के नहीं मिलने पर भड़के छात्रों ने कुलपति जगदीश कुमार समेत दूसरे अधिकारियों को 24 घंटे से बंधक बनाए रखा था. फिलहाल जगदीश कुमार के साथ-साथ सभी अधिकारी प्रशासनिक भवन से बाहर आ गए हैं. इन्हें कड़ी सुरक्षा में घेरा बनाकर बाहर निकाला गया. 

हालांकि इसके बाद भी छात्रों का गुस्सा नहीं थमा. आंदोलनकारियों का कहना है कि अगर आरोपी छात्रों को सस्पेंड नहीं किया गया तो होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह के घर का घेराव किया जा सकता है. छात्रों ने वाइस चांसलर पर यह आरोप भी लगाया है कि वो अपने आकाओं के कहने पर काम कर रहे हैं. 

जेएनयू में एमएससी बायोटेक्नोलॉजी के स्टूडेंट नजीब अहमद 6 दिनों से लापता हैं. नजीब अहमद से एबीवीपी की जेएनयू यूनिट के पदाधिकारियों ने 15 अक्टूबर को माही मांडवी छात्रावास में मारपीट की थी. आरोप यह भी है कि एबीवीपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी और तभी से नजीब गायब हैं. 

वहीं, जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष मोहित पांडेय ने किसी को भी प्रशासनिक भवन में बंधक बनाने के आरोपों से इनकार किया है. उन्होंने कहा कि भवन में बिजली-पानी की सप्लाई जारी है. भीतर खाना भी भेजा गया है. 

उधर, गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजु ने इस हंगामे पर कहा कि जेएनयू में कुछ लोग सिर्फ राजनीति करने आते हैं. इससे जेएनयू की बदनामी होती थी. होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने भी नजीब को ढूंढने के लिए पुलिस से बात की है. 

First published: 20 October 2016, 15:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी