Home » इंडिया » mission shakti india tests successfully anti satellite weapon in low earth orbit
 

जानें क्या है एंटी सैटेलाइट मिसाइल की खूबियां, भारत ने कैसे किया इसका परीक्षण?

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2019, 13:11 IST

आज भारत में एंटी सेटेलाइट का सफल प्रक्षेपण किया, जिसकी अधिकारिक सूचना प्रधानमंत्री मोदी ने दी. इस प्रक्षेपण के बाद भारत विश्व का चौथा देश बना, जो अंतरिक्ष में मार करने वाले मिसाइल की टेक्नोलॉजी में शामिल है. इसके सफल परीक्षण से भारत विश्व की अंतरिक्ष महा शक्तियों में शामिल हो गया है.

भारतीय मिसाइल द्वारा सिर्फ तीन मिनट के अंदर ही लो अर्थ ऑर्बिट में एक सैटेलाइट को मार गिराया.  ऐसी शक्ति अब तक सिर्फ तीन देशों के पास थी, जिसमें अमेरिका, रूस और चाइना शामिल था. भारत के इस सफल प्रक्षेपण से भारत ऐसा करने वाला विश्व का चौथा देश बन गया. 

अब भारत एंटी सैटेलाइट (ए सेट) के द्वारा अपने अंतरिक्ष कार्यक्रमों को सुरक्षित रख पाएगा. DRDO और ISRO के संयुक्त प्रयास से भारत को ये सफलता हासिल हुई है. 


एंटी सेटेलाइट वेपन क्या है?

भारत द्वारा प्रक्षेप किया किया एंटी सैटेलाइट वेपन एक हथियार है. इसका इस्तेमाल खासतौर पर सैन्य से अंतरिक्ष में सैटेलाइट्स को तबाह करने के लिए किया जाता है. इस टेक्नोलॉजी को ASAT सिस्टम भी कहते हैं.

विश्व में अपनी सैन्य क्षमता को दिखाने के लिए ये तकनीक विकसित की जाती है. क्योंकि अब तक दुनिया में ऐसे हालात पैदा नहीं हुए हैं कि अंतरिक्ष में युद्ध हो.

मोदी 'राज' में भारत ने हासिल किया वो मुकाम जो सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन कर पाए

First published: 27 March 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी