Home » इंडिया » Mob Lynching in Bihar- old man set on fire Alive in public, had to bury 75 kilometre away from the home
 

एक और मॉब लिंचिंग- बिहार में बुजुर्ग को चौराहे पर ज़िंदा जलाया, दफनाने के लिए भी खोजनी पड़ी जमीन

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2018, 14:58 IST

बिहार में एक और मॉब लिंचिंग की घटना सामने आयी है. यहां भीड़ की दरिंदगी इस हद तक बढ़ गई कि उसने एक बुजुर्ग व्यक्ति को सरे आम चौराहे पर ज़िंदा जला दिया. बिहार के सीतामढ़ी में तीन हांफती पहले ये घटना हुई है. इस घटना के बाद से नितीश कुमार के सुसाशन पर भी सवाल उठ रहे हैं. वहीं पुलिस और प्रशासन भी सवालों के घेरे में आ गया है. तीन हफ्ते पहले हुई इस क्रूर हत्या में अभी तक कोई भी गिरफ्तारी नहीं हुई है. इतना ही नहीं सूत्रों की मानें तो इस मामले में परिवार को पुलिस की तरफ से कोई भी भरोसा तक नहीं मिला है.

गौरतलब है कि पिछले महीने हिंसा के दौरान भीड़ ने पहले जैनुल अंसारी नाम के एक बुजुर्ग व्यक्ति का गला रेता और उसके बाद चौक पर जिंदा जला दिया. हैरत की बात ये है कि अंसारी के परिवार को इस घटना का पता तीन दिन बाद चला. हिंसा के दौरान सीतामढ़ी में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी, लेकिन हत्या के तीन दिन बाद जब एक घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बहाल की गई तब जैनुल अंसारी के परिजनों को एक वायरल फोटो मिला, जो उनकी हत्या का था.

छत्तीसगढ़ में चुनावों के एक दिन पहले नक्सलियों ने किया बड़ा हमला, लगातार हुए 6 IED ब्लास्ट

खबरों की मानें तो ऐसा कहा जा रहा है कि प्रशासन के दबाव की वजह से जैनुल अंसारी के परिजनों को उनका शव पैतृक गांव से 75 किलोमीटर दूर मुज़फ़्फ़रपुर में दफ़नाना पड़ा.वहीं सरकार ने परिजनों को पांच लाख की सहायता राशि दी है, लेकिन पुलिस अभी तक किसी अपराधी को गिरफ़्तार नहीं कर पाई है.

First published: 11 November 2018, 14:58 IST
 
अगली कहानी