Home » इंडिया » Modi cabinet approves special remission to prisoners on Mahatma Gandhi 150th birth anniversary
 

मोदी सरकार की सौगात: महात्मा गांधी की जयंती पर रिहा होंगे 60 की उम्र से ज्यादा के कैदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2018, 14:41 IST

इसी साल 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर मोदी सरकार कैदियों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है. मोदी सरकार देशभर के जेलों में बंद कैदियों को विशेष माफी देने को मंजूरी देने पर विचार कर रही है. पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने यह फैसला लिया है कि महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के मौके पर 60 साल से अधिक पुरुष कैदियों और 55 साल से अधिक उम्र के महिला कैदियों को रिहा किया जाएगा.

मंत्रिमंडल द्वारा लिए गए फैसले के अनुसार, महिला और पुरुष कैदियों को तीन चरणों में रिहा किया जाएगा. पहले चरण में कैदियों को 2 अक्‍टूबर, 2018 (महात्‍मा गांधी की जयंती) को रिहा किया जाएगा. इसके बाद दूसरे चरण में कैदियों को 10 अप्रैल, 2019 (चम्‍पारण सत्‍याग्रह की वर्षगांठ के अवसर पर) को रिहा किया जाएगा. वहीं तीसरे चरण में कैदियों को 02 अक्‍टूबर, 2019 (महात्‍मा गांधी की जयंती) को रिहा किया जाएगा.

पढ़ें- रामदेव बोले- मोदी सरकार भारत माता के माथे पर से बेरोजगारी का कलंक नहीं हटा पाई

इसके तहत 55 वर्ष की ऐसी महिला कैदियों को रिहा किया जाएगा, जिनकी वास्‍तविक सजा की अवधि 50 फीसदी से अधिक हो चुकी है. वहीं 50 फीसदी से अधिक वास्‍तविक सजा की अवधि पूरी करने वाले 55 वर्ष या इससे अधिक उम्र के किन्‍नर कैदियों को भी रिहा किया जाएगा. इसके अलावा 60 साल या उससे अधिक उम्र के ऐसे पुरुष कैदियों को भी रिहा किया जाएगा, जिनकी 50 फीसदी वास्‍तविक सजा अवधि पूरी हो गई है.

पढ़ें- RTI में बदलाव पर बोले राहुल- BJP सच छुपाने में रखती है विश्वास

वहीं 70 फीसदी से अधिक दिव्‍यांग कैदियों को भी रिहा किया जाएगा. इनके लिए भी 50 फीसदी वास्‍तविक सजा अवधि पूरा करने की शर्त रखी गई है. इसके अलावा केंद्र सरकार ने वास्‍तविक सजा की 66 फीसदी अवधि पूरी करने वाले कैदियों को भी रिहा करने का फैसला किया है.

First published: 19 July 2018, 14:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी