Home » इंडिया » Modi Cabinet's second expansion today
 

पीएम मोदी: देश की ग्लोबल इमेज मेरी जिम्मेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 July 2016, 15:05 IST
(फाइल फोटो)

केंद्र की नरेंद्र मोदी कैबिनेट का आज दूसरा विस्तार हुआ है. 26 मई 2014 को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नवंबर 2014 में मंत्रिपरिषद का पहला विस्तार हुआ था.दो कैबिनेट और 17 राज्य मंत्रियों ने राष्ट्रपति भवन के दरबार हाल में आयोजित समारोह में पद और गोपनीयता की शपथ ली.

इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को होने वाले कैबिनेट विस्तार से पहले कहा कि ये कैबिनेट में फेरबदल नहीं है, बल्कि एक विस्तार है. उन्होंने कहा, "मोदी को मोदी की इमेज बनाने के लिए काम नहीं करना चाहिए. देश की ग्लोबल इमेज प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है."

फेरबदल नहीं विस्तार: पीएम मोदी

पीएम ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पहले कैबिनेट नोट्स लेने में कम से कम तीन महीने लग जाते हैं. लेकिन अब हमने इस अवधि को कम करके 15-30 दिन कर दिया है. कुछ अपवाद हैं, लेकिन हमें सफलता मिली है.

पीएम ने इस दौरान कहा, "ये मिनिमम गवर्मेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस का उदाहरण है. हमने लाल फीताशाही को कम किया है. काम का बीमारू माहौल खत्म हो गया है और अब एक टीम के तौर पर काम शुरू हो चुका है."

'विकास-सुरक्षा सबसे अहम'

पीएम मोदी ने कहा, "मेरे लिए विकास और सुरक्षा सबसे अहम ब‍िंदु हैं. मोदी को मोदी की इमेज के लिए काम नहीं करना चाहिए. ये प्रधानमंत्री का दाय‍ित्व है कि वो भारत की वैश्विक स्वीकार्यता को और बढ़ाएं."

पीएम ने अपनी सरकार में बढ़ती बेरोजगारी के सवाल पर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी बढ़ने की बात पूरी तरह सही नहीं है.

पीएम ने कहा, 'हमारे ताजा फैसले को देखें. अब देश में मॉल्स 24 घंटे खुले रह सकते हैं, लेकिन छोटी दुकानों को साप्ताहिक छुट्टी की जरूरत थी. इस फैसले से रोजगार के अवसर पैदा होंगे. लेकिन यह सरकारी आंकड़ों में नहीं दिखेगा."

'सबको साथ लेकर चलने की कोशिश'

विपक्ष से संबंधों पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने (विपक्ष के साथ) अच्छे कामकाजी संबंध बनाने के लिए पर्याप्त कोशिशें की हैं. हमने यह सुनिश्चित किया कि संसद चलती रहे.

पीएम ने कहा, "पिछले सत्र में कई बड़े विधेयक सदन में पेश किए. हम हमेशा प्रयास करते रहते हैं. सरकार को बड़ी भूमिका निभानी है. हम सबको साथ लेकर चलने की कोश‍िश करेंगे."

अगले साल उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इस लिहाज से मंत्रिमंडल विस्तार में इन राज्यों के सांसदों को तवज्जो मिलना तय है.

नरेंद्र मोदी कैबिनेट में प्रधानमंत्री समेत अभी कुल 64 मंत्री हैं. संवैधानिक बाध्यता के हिसाब से मंत्रिपरिषद में 82 मंत्रियों को रखा जा सकता है.

First published: 5 July 2016, 15:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी