Home » इंडिया » Modi government refuse the news of indian currency printing in china
 

मोदी सरकार ने चीन में भारतीय नोटों के छपने की खबर को बताया अफवाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 August 2018, 12:59 IST

केंद्र सरकार ने चीन में भारत के नोट छपने की बात को नकारते हुए इसे अफवाह बताया है. मोदी सरकार का कहना है कि ये खबर निराधार है. सरकार ने बताया है कि भारतीय रुपये सिर्फ भारत सरकार के प्रिंटिंग प्रेस में छापे जाते हैं. देश के कई प्रिंटिंग प्रेस में भारतीय करेंसी छापी जाती है. 

गौरतलब है कि कुछ समय पहले हांगकांग के अखबार 'साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट' में एक खबर छपी थी जिसमे लिखा था कि चीन में भारतीय करेंसी को छापा जा रहा है. इस खबर के छपने के बात से देश में सियासत तेज हो गई. इस मुद्दे पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी सरकार से स्पष्टीकरण मांगा था. शशि थरूर ने इसे बेहद संवेदनशील बताते हुए सरकार को इस पर अपनी स्थिति साफ़ करने की मांग की.

ये भी पढ़ें- स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पेट्रोल-डीजल में मिली बड़ी राहत, जानिए कितने कम हुए दाम?

 

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की खबर में कहा गया था कि भारत, नेपाल, बांग्लादेश, मलेशिया, थाइलैंड समेत कई देशों की करेंसी चीन स्थित प्रिंटिंग प्रेस में छापी जा रही हैं. मामला गर्माते देख इस मामले पर सरकार ने सफाई दी है. वित्त मंत्रालय में आर्थिक मामलों के विभाग (DEA) के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने सोमवार को कहा, 'यह खबर पूरी तरह से निराधार है कि किसी चीनी करेंसी प्रिटिंग कॉरपोरेशन में भारतीय करेंसी छापने का कोई ऑर्डर दिया गया है.भारतीय करेंसी नोट केवल भारत सरकार और रिजर्व बैंक के प्रिंटिंग प्रेस में छापे जा रहे हैं.'

ये भी पढ़ें- 1947 में थी महज इतनी कीमत, आज़ादी के 71 साल बाद इतनी बढ़ गई कीमतें

First published: 14 August 2018, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी