Home » इंडिया » Modi Govt agreement with Russia for nuclear powered submarine
 

नौसेना की ताकत बढ़ाने जा रही है मोदी सरकार, रूस से लेगी तीसरी परमाणु संचालित पनडुब्बी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 March 2019, 10:11 IST

दुश्मन को समुद्र में भी मात देने के लिए मोदी सरकार नौसेना की ताकत में इजाफा करने जा रही है. इसके लिए सरकार ने रूस से परमाणु संचालित पनडुब्बी लेने का फैसला लिया है. इसके लिए भारत ने गुरुवार को दस साल की अवधि के लिए भारतीय नौसेना के लिए परमाणु क्षमता से संपन्न हमलावर पनडुब्बी पट्टे पर लेने के लिए रूस के साथ समझौता किया है.

सैन्य सूत्रों ने ये जानकारी दी है कि ये समझौता 300 करोड़ डॉलर का है. बता दें कि दोनों देशों ने कई महीनों तक कीमतों और समझौते के विभिन्न पहलुओं पर बातचीत की. उसके बाद इस अंतर-सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए गएसूत्रों ने बताया कि इस समझौते के तहत रूस अकुला वर्ग के पनडुब्बी को भारतीय नौसेना को 2025 तक सौंपेगा. उन्होंने बताया कि अकुला वर्ग पंडुब्बी को चक्र III नाम दिया गया है. यह भारतीय नौसेना को पट्टे पर दी जाने वाली तीसरी रूसी पनडुब्बी होगी.

बता दें कि पहली रूसी परमाणु संचालित पनडुब्बी आईएनएस चक्र को तीन साल की लीज पर 1988 में लिया गया था. उसके बाद दूसरी आईएनएस चक्र को 2012 में दस सालों की लीज पर लिया गया था. सूत्रों ने बताया कि चक्र II की लीज 2022 में समाप्त होगी और भारत लीज को बढ़ाने के बारे में विचार कर रहा है.

महिला दिवस पर Air India की अहम पहल, महिलाओं के हाथ में दी 52 उड़ानों की कमान

First published: 8 March 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी