Home » इंडिया » Modi govt ban Zakir naik NGO for 5 years
 

जाकिर नाइक के NGO इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर 5 साल का बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 November 2016, 9:23 IST
(एजेंसी)

मोदी सरकार ने मंगलवार को इस्लाम के विवादित धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) को आतंकवाद निरोधक कानून के तहत पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया.

केंद्र सरकार ने आईआरएफ पर यह बैन कथित तौर पर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल लोगों को भड़काने के मामले में लगाया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में यह फैसला हुआ.

यूएपीए के तहत केंद्र सरकार का फैसला

केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि कैबिनेट ने आईआरएफ को गैर-कानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत पांच साल के लिए एक 'प्रतिबंधित संगठन' घोषित करने के प्रस्ताव पर मंजूरी दे दी. गृह मंत्रालय की ओर से जल्द ही इस बाबत एक अधिसूचना जारी कर दी जाएगी.

अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय की छानबीन में पता चला कि एनजीओ के संदिग्ध रिश्ते 'पीस टीवी' के साथ हैं, जिस पर आतंकवाद फैलाने का आरोप है. 'पीस टीवी' एक अंतरराष्ट्रीय इस्लामिक चैनल है.

भड़काऊ भाषण देने का आरोप

गृह मंत्रालय के मुताबिक, "आईआरएफ के प्रमुख नाइक ने कथित तौर पर कई भड़काऊ भाषण दिए हैं और कथित तौर पर आतंकी दुष्प्रचार में शामिल रहा है."

अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र पुलिस ने भी युवाओं में कट्टरपंथी भावनाएं भड़काने में शामिल होने और उन्हें आतंकवादी गतिविधियों की तरफ आकर्षित करने के आरोप में नाइक के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए हैं. ढाका के डिप्लोमैटिक इलाके में इस साल हुए आतंकी हमले में शामिल युवा भी जाकिर नाइक से प्रेरित बताए जा रहे थे.

First published: 16 November 2016, 9:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी