Home » इंडिया » modi govt cant pass triple talaqe bill in rajya sabha on last day of Winter Session,congress,bjp,modi,muslim women
 

मोदी सरकार को तीन तलाक पर शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन लगा बड़ा झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 January 2018, 16:11 IST

तीन तलाक बिल पर राज्यसभा में मोदी सरकार को संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन बड़ा झटका लगा है. मोदी सरकार लोकसभा से इस बिल को आसानी से पास कराने के बाद राज्यसभा में बहुमत नहीं होने की वजह से फंस गई. इस मामले पर कोई नतीजा ना देखते हुए शुक्रवार को राज्यसभा को अनिश्चितकाल तक के लिए स्‍थगित कर दिया गया है. 

सभापति वैंकेया नायडू ने तीन तलाक पर गतिरोध खत्म करने के लिए मोदी सरकार और विपक्षी दलों की बैठक बुलाई थी. इस बैठक में इस मामले पर सर्वसम्मति नहीं बन पाई. सभापति द्वारा बुलाई गई बैठक में सरकार की तरफ से अरुण जेटली और कांग्रेस के कई वरिष्‍ठ नेता मौजूद थे. मोदी सरकार अब इस बिल को 30 जनवरी से शुरू होने वाले बजट सत्र में पास कराने की कोशिश करेगी.

इससे पहले तीन तलाक बिल पर गुरुवार को भी राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. इस बिल को लेकर मोदी सरकार और कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष के बीच खूब तकरार हुई. दोनों पक्षों में से कोई भी इस मसले पर झुकने को तैयार नहीं हुआ. मोदी सरकार ने गुरुवार को भी तीन तलाक बिल को सुझावों के लिए सेलेक्ट कमेटी में भेजने की विपक्ष की मांग को ठुकरा दिया.

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने लोकसभा में बहुमत होने की वजह से आसानी से इसे पारित करा लिया था. लोकसभा में विपक्षी पार्टियों के सभी संसोधन खारिज हो गए थे. लोकसभा में हुई वोटिंग में ये बिल ध्वनिमत से पारित हुआ था. इसके बाद इसे केंद्र सरकार ने महिलाओं के सामाजिक अधिकार और न्याय की बड़ी जीत बताया था.

विपक्ष को इन प्रावधानों पर है ऐतराज़

कांग्रेस समेत अधिकतर विपक्ष को इस बिल के कुछ प्रावधानों को पर कड़ी आपत्ति है. विपक्ष इस प्रस्तावित कानून में एक बार में तीन तलाक कहने पर पति के ऊपर आपराधिक मुकदमा किए जाने के खिलाफ है. इसके साथ ही उसे प्रस्तावित कानून में होने वाली सजा से भी एतराज है. इसके साथ ही तीन तलाक की पीड़िता महिला को मिलने वाले गुजारे भत्ते को लेकर भी उसकी कुछ शंकाएं हैं, जिनमें वो संशोधन चाहता है.

 राज्यसभा में ये है गणित

राज्यसभा में कुल 245 सीटें हैं. इसमें से सात सीटें अभी खाली हैं. 238 सदस्यीय राज्यसभा में कांग्रेस 57 और भाजपा के पास 57 सीटें हैं. इनके अलावा समाजवादी पार्टी के पास 18, अन्नाद्रमुक के पास 13, तृणमूल कांग्रेस के पास 12, बीजेडी के पास 8, लेफ्ट के पास 8, टीडीपी के पास 6, एनसीपी के पास 5, द्रमुक के पास 4, बसपा के पास 4 और राजद के कुल 3 सदस्य हैं. वहीं, भाजपा के पास सहयोगी एनडीए दलों के 20 सांसद हैं.

First published: 5 January 2018, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी