Home » इंडिया » Modi Govt gift to army soldiers, now serving less than 10 years will also get pension
 

सेना के जवानों को मोदी सरकार का तोहफा, अब 10 साल से कम सेवा वाले सैनिकों को भी मिलेगी पेंशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2020, 14:30 IST

Indian Army: केंद्र की मोदी सरकार ने भारतीय सेना के जवानों को बड़ा तोहफा दिया है. रक्षा मंत्रालय ने एक बड़ा फैसला लेते हुए सशस्त्र सेना के उन जवानों को भी पेंशन देने की अनुमति दी है, जिन्होंने 10 साल से कम सेवा दी है. इससे पहले 10 साल से कम समय तक सेना में अपनी सेवा देने वाले जवान पेंशन के लिए पात्र नहीं होते थे.

रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को जानकारी दी कि केंद्र सरकार अब तक 10 साल अथवा उससे ज्यादा समय तक सेवा देने वाले जवानों को पेंशन का लाभ देती रही है. लेकिन अब सरकार ने सशस्त्र सेना में दस साल से कम सेवा देने वाले जवानों को भी पेंशन देने का फैसला किया है. ये ऐसे जवान हैं जिन्हें जख्मी होने अथवा मानसिक कमजोरी के कारण सेना की  सेवा छोड़नी पड़ी है.

 

रक्षामंत्री ने दी मंजूरी

रक्षामंत्री ने अब इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. जो जवान 4 जनवरी, 2019 अथवा उसके बाद तक सेवा में थे, उन सभी जवानों को इस फैसले का लाभ मिलेगा. मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि 10 साल से कम समय की सेवा देने वाले सशस्त्र बलों के कर्मियों को अशक्त पेंशन देने का फैसला किया गया है.

रक्षा मंत्रालय ने जानकारी दी कि हटा दिए गए सेना के कर्मियों को भी इस पेंशन का लाभ मिलेगा. इसमें कहा गया कि सेना का किसी जवान ने 10 साल से कम की सेवा की है और किसी शारीरिक अथवा मानसिक कमजोरी की वजह से अमान्य करार दिया गया है, उन्हें भी इस फैसले का लाभ मिलेगा.

पहले सिर्फ अशक्त ग्रेच्युटी का किया जाता था भुकतान

इन जवानों का अब सेना से संबंध कहीं से नहीं भी है और उसे स्थायी रूप से पुनर्नियुक्ति से हटा दिया गया है, तो भी इस फैसले का लाभ मिलेगा. प्रस्ताव को देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंजूरी प्रदान कर दी है. इससे पहले अशक्त होने के समय यदि किसी सैनिक ने 10 साल की सेवा पूरी नहीं की होती थी तो उसे सिर्फ अशक्त ग्रेच्युटि का ही भुगतान किया जाता था.

कश्मीर: पुलिस ने अपनाई शानदार ट्रिक, BJP नेता को किया किडनैप तो आतंकी के परिवार को उठाया, इसके बाद..

बुधवार रात हुआ दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल अटैक, आम लोगों के करोड़ों रुपये हुए स्वाहा

First published: 16 July 2020, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी