Home » इंडिया » modi govt plans Aadhaar for driving licence, registration of new vehicles.
 

आधार कार्ड को लेकर नई मुश्किल खड़ी कर सकती है मोदी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2017, 16:38 IST

केंद्र में काबिज मोदी सरकार आधार कार्ड को लेकर लोगों के लिए नई मुश्किलें खड़ी कर सकती है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसको लेकर शुक्रवार को संकेत दिए.

रविशंकर प्रसाद ने कहा, कि सरकार आधार और ड्राइविंग लाइसेंस को भी लिंक करने की योजना पर विचार कर रही है और जल्द ही इस पर फैसला लिया जा सकता है. उन्होंने बताया कि इस संबंध में उन्होंने परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से भी बात की है

 

रविशंकर का कहना है कि, आमतौर पर ये देखा गया कि लोग एक लाइसेंस रद्द होने पर या सस्पेंड होने पर दूसरा नया लाइसेंस बनवा लेते हैं. एक से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पहचान को भी बढ़ावा देते हैं. मगर ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ दिया जाता है, तो इससे डुप्लीकेट लाइसेंस की संख्या पर लगाम कसने में मदद मिलेगी. 

 

गौरतलब है केंद्र सरकार ने मोबाइल और पैन कार्ड को आधार से लिंक करने को अनिवार्य बना दिया है. दरअसल इस साल फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश दिया था कि वह एक साल के अंदर सभी मोबाइल टेलिफोन उपभोक्ताओं की पहचान करें. 

कोर्ट ने सरकार से कहा था कि यूजर्स के सत्यापन के लिए के लिए यूजर्स के सिम कार्ड को उनके आधार से लिंक कर दिया जाए. इसके अलावा 1 जून 2017 को सरकार द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक 31 दिसंबर 2017 तक आपको हर हर हाल में अपने बैंक खाते से आधार संख्या को जोड़ लेना है. ऐसा ना करने पर आपको आईटीआर दाखिल करने में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

First published: 15 September 2017, 16:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी