Home » इंडिया » Modi Govt Project Bharatmata Focus on 3000 Kms of Expressway
 

प्रोजेक्ट भारतमाता : देशभर में बिछेगा 3000 किलोमीटर एक्सप्रेसवे का जाल, ये शहर होंगे शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2019, 10:11 IST

मोदी सरकार देशभर में यातायात को सुगम बनाने के लिए एक नई योजना लाने जा रही है. इस योजना से देशभर के लोगों को जाम के झाम से राहत मिलेगी. बता दें कि इस योजना के तहत मोदी सरकार देशभर में एक्सप्रेसवे का जाल बिछाया जाएगा. इसके लिए मोदी सरकार देश में 3000 किमी के एक्सप्रेसवे बनाने की योजना पर काम कर रही है. दरअसल, मोदी सरकार का बेहद महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट भारतमाला के दूसरे चरण में सरकार ने नए लक्ष्य तय कर दिए है.

सूत्रों के मुताबिक सड़क परिवहन मंत्रालय की भारतमाला प्रोजेक्ट के अगले चरण में सरकार ने एक्सप्रेसवे पर सबसे ज़्यादा फोकस रखा है. केंद्र सरकार की 3000 किमी से ज्यादा के एक्सप्रेसवे नेटवर्क देश में बनाने की योजना है. इसकी सबसे अहम बात ये कि ये एक्सप्रेस वे ग्रीनफ़ील्ड होंगे यानि ये बिल्कुल नए बनेंगे. इसका मतलब यह है कि ये वो एक्सप्रेसवे होंगे जिनका निर्माण बिना किसी मौजूद रोड के चौड़ीकरण या डिजाइन में बदलाव किए होगा.

ऐसा माना जा रहा है कि एक्सप्रेसवे पर सरकार 2 वजहों से फोकस कर रही है. पहला ये कि एक्सप्रेसवे के जरिये ट्रैफिक से आने वाली परेशानियों का निराकरण होगा. दूसरा ये कि नए ग्रीनफ़ील्ड एक्सप्रेसवे के जरिये भूमि अधिग्रहण का बोझ भी काफी कम आएगा.

बता दें कि सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के तरह बनाए जाने वाले एक्सप्रेस वे में वाराणसी-रांची-कोलकाता, इंदौर - मुम्बई, बंगलोर - पुणे, चेन्नई - त्रिचि आदि शहर शामिल हैं. इससे अलावा पटना - राउरकेला, झांसी - रायपुर, सोलापुर - बेलगाम , बेंगलुरु - विजयवाड़ा, गोरखपुर - बरेली, वाराणसी - गोरखपुर में ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे बनाने की योजना है. बताया जा रहा है कि इन एक्सप्रेस वे के बनने से गाड़ियों की स्पीड में भी इजाफा होगा. इन एक्सप्रेसवे पर गाड़ियों की एवरेज स्पीड या औसत रफ्तार 120 किमी तय की गई है.

ये भी पढ़ें- MP में सियासी भूचाल, देर रात बंद कमरे में शिवराज से मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया, पलट सकती है सत्ता!

First published: 22 January 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी