Home » इंडिया » modi govt. spent rs-567cr on foreign trips in one year
 

मोदी सरकार ने एक साल की विदेशी यात्रा पर खर्च किये 567 करोड़ रुपए

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 March 2016, 15:00 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों के द्वारा साल 2015-16 में विदेश यात्राओं पर 567 करोड़ रुपए का खर्च हुआ है. यह धनराशि पिछले वित्‍त वर्ष से 80 फीसदी ज्यादा है.

इस बात की जानकारी बजट डॉक्‍यूमेंट के जरिए हुई है. प्रधानमंत्री मोदी और मंत्रियों के विदेशी यात्रा पर इस राशि के खर्च के अलावा ब्यूरोक्रेट्स की यात्राओं पर भी 500 करोड़ खर्च किए जाने की बात सामने आ आई है.

इस सूचना के मुताबिक साल 2015-16 में पीएम मोदी और उनके मंत्रियों की विदेशी यात्राओं के लिए 269 करोड़ रुपए का बजट आरक्षित किया गया था, लेकिन यह धनराशि 567 करोड़ तक पहुंच गया.

वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी कैबिनेट ने नेताओं ने यूपीए के दूसरे कार्यकाल के पांच सालों के दौरान विदेशी यात्राओं पर कुल 1500 करोड़ रुपए खर्च किए.

एनडीए सरकार का विदेशी यात्रा में जो खर्च सामने आया है, उसमें पीएम के अलावा सभी मंत्रियों, एक्स पीएम, दूसरे वीवीआईपी, प्रेसिडेंट और वाइस प्रेसिडेंट की यात्रा भी शामिल हैं.

प्रधानमंत्री मोदी की कैबिनेट में 64 मंत्री हैं, जबकि यूपीए सरकार में 75 मंत्री थे. फिर भी एनडीए सरकार की विदेश यात्रा का खर्च यूपीए के मुकाबले में बहुत ज्यादा रहा है. एनडीए सरकार के यात्रा भत्तों पर 10.20 करोड़ रुपये सालाना खर्च हो रहे हैं, जो यूपीए सरकार के दौरान किए गए खर्च से 8 फीसदी ज्यादा है.

इन आंकड़ों के मुताबिक साल 2015 के बाद कैबिनेट सेक्रेटरिएट में 300 लोगों का स्टाफ बढ़ाया गया है. कैबिनेट सेक्रेटरिएट में एक मार्च 2015 तक स्टाफ मेंबरों की संख्या 900 थी, जो साल 2016 में बढ़कर 1201 हो गई है. जबकि सरकार ने साल 2008-09 की ग्लोबल मंदी के बाद फैसला किया गया था कि सरकारी खर्च में कटौती की जाएगी, लेकिन सरकार ने अपनी घोषणा के मुताबिक कार्य नहीं किया.

वित्त मंत्रालय हर साल गैर योजना खर्च में 10 फीसदी कटौती की योजना बनाती है. इस कटौती योजना में अधिकारियों की प्रथम श्रेणी की यात्रा के साथ-साथ, मंत्रियों के साथ विदेश जाने वाले शिष्टमंडल में कटौती की भी योजना है. इसके साथ ही सरकार के द्वारा पंचतारा होटलों में सरकारी कार्यक्रमों के आयोजन पर भी रोक लगाई गई है.

First published: 21 March 2016, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी