Home » इंडिया » Modi in Northeast: PM attempts to pacify anger, says citizenship bill won’t harm Northeast
 

नागरिकता विधेयक पर गुस्साए असम को पीएम मोदी ने ऐसे किया शांत

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 February 2019, 16:59 IST

प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को गुवाहाटी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विवादास्पद नागरिकता विधेयक पर लगातार दूसरे दिन काले झंडे दिखाए. हालांकि पीएम मोदी ने लोगों के गुस्से को शांत करने की कोशिश की और कहा "बिल असम और पूर्वोत्तर को नुकसान नहीं पहुंचाएगा है." पूर्वोत्तर की दो दिवसीय यात्रा पर आए मोदी ने असम के चांगसारी में एक सभा को संबोधित किया और कहा, "नागरिकता विधेयक का मुद्दा केवल पूर्वोत्तर या असम से संबंधित नहीं है, यह उन लोगों के लिए है जो अपने विश्वास और जीवन के लिए जीना चाहते हैं''.

नागरिकता (संशोधन) विधेयक जो 8 जनवरी को लोकसभा द्वारा पारित किया गया था, वह भारत में छह साल के निवास के बाद भी बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से धार्मिक अल्पसंख्यक को भारतीय नागरिकता प्रदान करना चाहता है, भले ही उनके पास कोई दस्तावेज न हो. इस बिल से पूर्वोत्तर में दहशत फैल गई है जहां लोगों ने आशंका व्यक्त की है कि नागरिकता की संभावना बांग्लादेश से प्रवास को प्रोत्साहित करेगी.

बिल पर सेंट्र के रुख से नाराज होकर, प्रदर्शनकारी असम में सड़कों पर उतरे और पीमए पीएम मोदी को काले झंडे दिखाए. शुक्रवार शाम असम पहुंचे मोदी का कम से कम चार अलग-अलग स्थानों पर काले झंडों से स्वागत किया गया. ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों ने 'ग्लोरी टू मदर असम' जैसे नारे लगाए.

आज सुबह गुवाहाटी में माचखोवा क्षेत्र के पास मोदी पर असम जटियाबाड़ी युवा छत्र परिषद (AJYCP) से जुड़े प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे लहराए. पुलिस ने कहा कि दोनों समूहों के सदस्यों को हिरासत में लिया गया था.

First published: 9 February 2019, 16:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी