Home » इंडिया » Modi ji is the first ever Indian PM whose words don't mean anything says rahul gandhi
 

नगा समझौते पर बोले राहुल गांधी- मोदी पहले पीएम हैं जिनकी बात का कोई मतलब नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 February 2018, 14:33 IST

नागालैंड में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी आमने-सामने है. इस बीच नागालैंड पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाया है. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी ऐसे पहले पीएम हैं जिनकी बात का कोई मतलब नहीं है. दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष नगा शांति समझौते को लेकर पीएम मोदी पर सवाल उठा रहे थे.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी की नगा शांति समझौते के उनके दावे को लेकर खिंचाई की. उन्होंने ट्विटर के जरिए इस समझौते के अस्तित्व पर सवाल उठाया.

राहुल ने ट्वीट किया, "अगस्त 2015 में मोदी ने नगा समझौते पर हस्ताक्षर करके इतिहास रचने का दावा किया था. अब फरवरी 2018 है, लेकिन नगा समझौते का कुछ अता-पता नहीं है. मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जिनके शब्दों का कोई मतलब नहीं है."

 

क्या है नगा शांति समझौता?
भारत के पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड में लंबे समय से अलगाववादी आंदोलन चल रहा है और ये आंदोलन कई गुटों में बंटा है. साल 2014 में केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद लंबे वक्त से अटके समझौते को फाइनल किया गया था. करीब 18 साल तक चली 80 से ज्यादा दौर की वार्ता के बाद समझौते पर साइन किए गए थे. 3 अगस्त, 2015 को पीएम नरेंद्र मोदी ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की मौजूदगी में एनएससीएन के साथ समझौते पर साइन किए थे.

इस समझौते के बाद पीएम मोदी ने घोषणा कर कहा था कि सरकार नगा विद्रोहियों के साथ एक समझौते पर पहुंच गई है. उन्होंने कहा था कि यह समझौता न केवल इस समस्या की समाप्ति है बल्कि पूर्वोत्तर क्षेत्र के नए भविष्य की शुरुआत का भी सूचक है. हालांकि समझौते का ब्यौरा सार्वजनिक नहीं किया गया. जिसे लेकर राहुल गांधी पहले भी सवाल उठाते रहे हैं. वो नगा संधि से जुड़ी जानकारी साझा करने की मांग करते रहे हैं.

First published: 4 February 2018, 14:33 IST
 
अगली कहानी