Home » इंडिया » Modi Minister Nitin Gadkari says unfair to call Mallya fraud
 

मोदी सरकार के इस बड़े मंत्री ने किया माल्या का बचाव, बोले- 'माल्या जी' को चोर बोलना है गलत

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 December 2018, 10:40 IST

मोदी सरकार में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भगोड़े विजय माल्या का समर्थन करते हुए बोला है कि अगर एक बार कर्ज नहीं चुका पाए तो सिर्फ इसलिए 'विजय माल्याजी' को चोर कहना अनुचित है. साथ ही माल्या को देश का बड़ा उद्योगपति बताते हुए उन्होंने कहा था कि माल्या के नाम पर 40 साल तक ठीक समय पर कर्ज चुकाने का भी रिकॉर्ड है. माल्या की तरफदारी करते हुए गडकरी ने ये भी सफाई कि उनका माल्या के साथ कोई संबंध नहीं है.

गडकरी ने कहा कि अगर विजय माल्या जी या नीरव मोदी ने धोखाधड़ी की है तो उन्हें जेल भेजा जाना चाहिए. लेकिन यदि कोई परेशानी में आता है और उस पर धोखेबाज का ठप्पा लगा देते हैं तो हमारी इकॉनॉकी तरक्की नहीं कर सकती. इसके आगे केंद्रीय मंत्री ने कहा, ''माल्या 40 साल लगातार पेमेंट कर रहे थे. ब्याज भर रहे थे. 40 साल बाद जब वह एविएशन में गए तो अड़चन आई. ऐसे में वह एक कदम से चोर हो गए?''

ये भी पढ़ें- 'पाकिस्तानी एंगल' में फंसा विजय माल्या का भारत प्रत्यार्पण, 2 महीने में होगा फैसला !

गौरतलब है कि भगोड़े विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण को ब्रिटिश कोर्ट से हरी झंडी मिल गई है. वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने इस मामले में ब्रिटेन के गृह मंत्रालय को फाइल सौंप दी है. गौरतलब है कि विजय माल्या के प्रातरार्पण के मामले में अब कोर्ट के बाद ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद को औपचारिक फैसला करना है.

बता दें कि माल्या अप्रैल के बाद से प्रत्यर्पण वारंट पर यूके में जमानत पर हैं. उसके ऊपर धोखाधड़ी और मनी लॉंडरिंग के मामले में 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है. माल्या साल 2016 में 2 मार्च को देश छोड़कर भाग गया था.

First published: 14 December 2018, 10:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी