Home » इंडिया » Modi's ambitious Pradhamantri Ujjwala yojna is being praised in the WHO pollution report
 

पीएम मोदी उज्ज्वला योजना को WHO ने सराहा, गरीब परिवारों को मिले 3.7 करोड़ गैस कनेक्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2018, 14:37 IST

महिलाओं और बच्चों को वायु प्रदूषण और धुंए से बचाने के लिए नरेंद्र मोदी की बहुचर्चित उज्जवला योजना की तारीफ डब्लूएचओ की प्रदूषण रिपोर्ट में भी की गयी है. रिपोर्ट में लिखा है कि देश वायु प्रदूषण से निपटने और उसे कम करने के लिए उपाय कर रहा हैं. उदाहरण के लिए, सिर्फ दो साल में भारत की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना ने 37 मिलिलयन महिलाओं को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन दिए  जिससे कि वे स्वच्छ घरेलू ऊर्जा का प्रयोग कर सकें.

ये भी पढ़ें- गोरखपुर हादसा: बेटी के पहले बर्थडे के दिन डॉ. कफील भेजे गए थे जेल, अब नहीं पहचानती बेटी, कुसूरवार कौन?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 1 मई 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से शुरू की गई थी. इसके अंतर्गत पूरे भारत में 3 करोड़ 56 लाख से ज्यादा एलपीजी कनेक्शन गरीब परिवारों को उनके परिवार की महिला के नाम पर जारी हो चुके हैं.

इस योजना की मदद से पूरे भारत में एलपीजी इस्तेमाल करने वालों की प्रतिशत 61.9 से बढ़कर 80.9 प्रतिशत हो गई है. इस योजना के तहत गरीबी रखस से नीचे के लोगों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन के साथ 16,000 रुपये की आर्थिक सहायता भी दी जाएगी. इस योजना के तहत एक शर्त यह भी थी कि इस योजना के अंतर्गत एलपीजी कनेक्शन सिर्फ महिलाओं के नाम पर ही जारी किये जायेंगे. योजना का लक्ष्य 2019 तक 5 करोड़ कनेक्शन देते का था.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: देश में लौटे अच्छे दिन, जनता को मिली बड़ी राहत

सोशियो इकनोमिक कास्ट सेन्सस डाटा (SECCD) के जरिये गरीबी रेखा के नीचे के परिवारों को चिन्हित करते हुए इस योजना के लिए 8 हजार करोड़ रुपये आवंटित किये गए. इसके साथ ही सरकार ने इस स्कीम में 4800 करोड़ अतिरिक्त जोड़े गए और लाभार्थियों का लक्ष्य 5 करोड़ से बढ़ाकर 8 करोड़ कर दिया गया.

First published: 2 May 2018, 14:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी