Home » इंडिया » mohan-bhagwat-cow-seviyor-work-under-law
 

विजयादशमी समारोह में बोले मोहन भागवत- 'गोरक्षक कानून के दायरे में काम करते हैं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2016, 11:44 IST
(एएनआई)

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को गोरक्षकों का बचाव करते हुए कहा, "हमें असामाजिक तत्वों और कानून का पालन करने वाले गोरक्षकों के बीच अंतर को समझने की आवश्यकता है."

आरएसएस के स्थापना दिवस पर नागपुर में संघ के स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए संघ प्रमुख ने कहा कि हिन्दुओं द्वारा पवित्र मानी जाने वाली गाय की रक्षा कानून के दायरे में ही की जानी चाहिए और जो गोरक्षक ऐसा कर रहे हैं, वो देश की महत्वपूर्ण समाजसेवा कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, "गोरक्षक अच्छे लोग होते हैं. हमारे देश में गोरक्षा के लिए कानून हैं. प्रशासन को ध्यान रखना होगा कि कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो असामाजिक तत्व हैं और कभी गोरक्षक नहीं हो सकते. उनके जरिये बेवकूफ न बनें. उन लोगों और गोरक्षकों के बीच बड़ा फर्क यह है कि वो गोरक्षा के नाम पर हिंसा करते हैं और अशांति फैलाते हैं. उन्हें एक साथ जोड़कर कतई नहीं देखा जाना चाहिए."

पीएम ने कहा था गोरखधंधे में लिप्त हैं गोरक्षक

गौरतलब है कि गोरक्षकों और उनके कृत्यों की वजह से पिछले कुछ महीनों के दौरान कई हिंसक घटनाएं हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कथित गोरक्षक हिंसा के बाद उन घटनाओं की आलोचना करते हुए कहा था कि इसमें से ज्यादातर गोरक्षक 'असामाजिक तत्व' हैं.

पीएम ने कहा था कि दिन में ऐसे लोग गोरक्षक का चोला ओढ़ लेते हैं, जबकि रात में ये गोरखधंधे में लिप्त हो जाते हैं. ऐसे लोगों का डोजियर तैयार करने की जरूरत है.

First published: 11 October 2016, 11:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी