Home » इंडिया » Monsoon Session: Lok Sabha and Rajya Sabha disrupted even today, read what he said on Pegasus - Union Minister
 

Monsoon Session : लोकसभा और राज्यसभा आज भी बाधित, पढ़िए पेगासस पर क्या बोले केंद्रीय मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2021, 13:23 IST

Monsoon Session : विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक और राज्यसभा को 12 बजे तक स्थगित कर दिया गया. BJP संसदीय दल की बैठक पर केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा ''PM ने विपक्ष की धारणा पर चिंता व्यक्त की, लोगों का मुद्दा उठाने की बजाए कांग्रेस सोच रही है कि सत्ता और PM उनका अधिकार है. हम 2 साल से महामारी झेल रहे हैं लेकिन कांग्रेस बहुत गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार कर रही है.'' उन्होंने कहा ''इसमें सरकार की कोई भागीदारी नहीं है लेकिन अगर विपक्ष सही प्रक्रिया से मुद्दा उठाना चाहता है तो उन्हें मुद्दा उठाने दो. आईटी मंत्री ने इस पर पहले ही बयान दिया है.''

विभिन्न मुद्दों पर विपक्ष के हंगामे के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को मानसून सत्र के पहले दिन अपनी मंत्रिपरिषद के नये सदस्यों का परिचय संसद के दोनों सदनों में नहीं करवा पाए और उन्होंने मंत्रियों की सूची दोनों सदनों के पटल पर रखी.


प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि कुछ लोगों को यह रास नहीं आ रहा है कि दलित, आदिवासी, पिछड़ा वर्ग और महिला मंत्रियों का यहां परिचय कराया जाए. उन्होंने विपक्षी दलों के रवैये को महिला एवं दलित विरोधी ‘‘मानसिकता का परिचय’’ करार दिया. संसद के मानसून सत्र के पहले दिन प्रधानमंत्री मोदी ने जब नये मंत्रियों का सदन में परिचय देना शुरू किया, उसी दौरान दोनों सदनों में विपक्षी सदस्यों ने हंगामा किया.

राज्यसभा के सभापति एम वैंकेया नायडू एवं लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने विपक्षी सदस्यों से शांत होने और मंत्रियों का परिचय होने देने की अपील की. किंतु उनकी अपील का विपक्षी सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ और सदन में हंगामा जारी रहा.

बिरला ने कहा, ‘‘परंपराओं को न तोड़ें. आप लंबे समय तक शासन में रहे हैं. आप परंपरा को तोड़कर सदन की गरिमा को कम नहीं करें. इस सदन की गरिमा को बनाए रखें...प्रधानमंत्री जी सदन के नेता हैं और फेरबदल के बाद मंत्रिपरिषद का परिचय करा रहे हैं. आप सदन की गरिमा को बनाए रखें.’’

लोकसभा में संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भी हंगामा कर रहे विपक्षी सदस्यों से शांति से नये मंत्रियों का परिचय होने देने की अपील की.विपक्ष के हंगामे पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मैं सोच रहा था कि सदन में एक उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद मंत्री बनी हैं...आज खुशी का माहौल होगा कि आदिवासी साथी बड़ी संख्या में मंत्री बने हैं.’’

उन्होंने कहा कि किसान परिवार और ग्रामीण परिवेश से आने वाले, सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े समाज से आने वालों को बड़ी संख्या में मंत्रिपरिषद में स्थान मिला है, उनके परिचय से खुशी होनी चाहिए थी.

बिहार की नीतीश सरकार का बड़ा फैसला- सावन में मंदिरों में नहीं कर सकते सामूहिक पूजा

First published: 20 July 2021, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी