Home » इंडिया » Monsoon will be
 

सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान, मराठवाड़ा में भी बरसेंगे मेघ !

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

लगातार दो साल से कम मॉनसून की मार झेल रहे देश के लिए राहत भरी खबर है. मौसम विभाग के मुताबिक इस साल सामान्य से बेहतर मॉनसून रहने का अनुमान है. यानी इस साल सामान्य से ज्यादा बारिश होने की उम्मीद है.

वहीं सूखे से बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र के मराठवाड़ा इलाके के लिए भी अच्छी खबर है. मौसम विभाग के डीजी एल एस राठौड़ का कहना है कि मराठवाड़ा में इस बार अच्छी बारिश होने की संभावना है.

मराठवाड़ा के साथ ही विदर्भ और बुंदेलखंड समेत कई इलाकों में सूखे से बुरे हालात हैं. इस साल मॉनसून के दौरान बारिश सामान्य औसत से ज्यादा तकरीबन 110 फीसदी रहने का अनुमान है.

पढ़ें:बेखबर सरकार: सूखे की चपेट में आधा देश

मौसम विभाग के मुताबिक देशभर में मॉनसून समान रूप से असर दिखाएगा. साथ ही अनुमान है कि पूर्वोत्तर और दक्षिण पूर्व इलाकों में थोड़ी कम बारिश हो सकती है. मौसम का अध्ययन करने वाली संस्था स्काईमेट ने भी ऐसा ही अनुमान लगाया था.

स्काईमेट के मुताबिक मॉनसून के दौरान होने वाली बारिश दीर्घकालिक औसत से ज्यादा रहने की संभावना है और ये 105 फीसदी तक पहुंच सकती है. जो औसत मॉनसून से 35 फीसदी ज्यादा होगी.

पढ़ें:सूखा, अकाल और सरकारी उपेक्षा के चलते दम तोड़ता बुंदेलखंड

दो साल से कमजोर मॉनसून

पिछले दो साल से देश में मॉनसून कमजोर है. सामान्य से कम बारिश की वजह से किसानों को काफी मुश्किल उठानी पड़ रही है. फरवरी में आर्थिक सर्वे में कहा गया था कि पिछले साल जैसा प्रतिकूल मौसम इस साल नहीं होगा.

मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि अल नीनो (समुद्री सतह के तापमान में बदलाव की घटना) के प्रभाव में गिरावट आ रही है. जानकारों ने उम्मीद जताई है कि अल नीनो के कमजोर पड़ने से ला नीना की स्थिति आएगी.

जिससे इस साल हालात बेहतर हो सकते हैं. कमजोर मॉनसून की वजह से देश का खाद्यान्न उत्पादन 2014-15 में करीब सवा करोड़ टन घट गया था.  

पढ़ें:छत्तीसगढ़ का सूखा, राहत का धोखा और किसान भूखा

First published: 12 April 2016, 6:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी