Home » इंडिया » more than 6900 carore rupees granted for news military equipments Nirmala Sitharamanin DAC meeting
 

अब अंधेरे में भी दुश्मनों को ढेर कर देगी भारतीय सेना, ये है केंद्र सरकार का प्लान

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 10:27 IST

रक्षा अधिग्रहण परिषद् (डीएसी) की बैठक में रक्षा बलों के लिए 6900 करोड़ से अधिक के उपकरण खरीद को मंजूरी मिल गयी है. बैठक की अध्यक्षता निर्मला सीतारमण ने की. इस बैठक में डीएसी ने स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने पर जोर दिया.

साथ ही भारत की बढ़ती तकनीकी शक्ति को भी सराहा. इसके साथ ही बैठक में ये सुनिश्चित किया गया कि रॉकेट लांचर के लिए थर्मल इमेजिंग (टीआई) नाइटसाइट्स की खरीदारी भारतीय वेंडरों के माध्यम से की जाएगी जो कि आईडीडीएण श्रेणी के अंतर्गत स्थापित है.

इन राकेट लॉन्चर्स का इस्तेमाल वायुसेना और थलसेना करते हैं. इन लॉन्चर्स की ख़ास बात ये यही की अंधेरे में भी ये लॉन्चर्स दुश्मनों के ठिकानों पर सटीक निशाना साधते हैं.

ये भी पढ़ें- तेल के बाद CNG ने निकाले आंसू : पेट्रोल-डीजल के बाद अब CNG भी हुई महंगी

अंधेरे में भी लगेगा सटीक निशाना

इसकी मदद से अंधेरे में भी दुष्मा के ठिकानों की खोज की जा सकेगी. इसी के साथ अंधेरे में भी सैनिकों की हो रही गतिविधियों पर नजर रखी जा सकेगी. इससे दुश्मन अंधेरे का फायदा नहीं उठा पाएंगे. इस प्रणाली से दिन और रात दोनों समय काम किया जा सकेगा और विमानों की क्षमता भी बढ़ेगी.

स्वदेशीकरण को मिला बढ़ावा

इस बैठक में स्वदेशीकरण पर जोर दिया गया है. इसी के साथ पिछले कुछ महीने में हुए सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के काम को आगे बढ़ाया है. अभी तक लगभग 43,844 करोड़ रुपये के उपकरण खरीद को मंजूरी मिल चुकी है. जिसमें से 32,253 करोड़ रुपये के उपकरण भारत में बनाए जाएंगे जिससे स्वदेशीकरण को बढ़ावा मिले.

First published: 29 May 2018, 10:27 IST
 
अगली कहानी