Home » इंडिया » MoU for country’s first CNG terminal to be signed at Vibrant summit
 

नए साल में गुजरात को मिलेगा बड़ा तोफहा, ये कंपनी स्थापित करने जा रही है देश का पहला CNG टर्मिनल

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 January 2019, 14:09 IST

 

आगामी वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2019 में एक एमओयू के तहत गुजरात मेदेश का पहला सीएनजी टर्मिनल स्थापित किया जायेगा. गुजरात मैरिटाइम बोर्ड के उपाध्यक्ष और एमडी मुकेश कुमार इसकी जानकारी दी है. इस समिट के दौरान लगभग 100 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किये जायेंगे. इस टर्मिनल की स्थापना Foresight ग्रुप सर्विसेज लिमिटेड FZCO करेगा.

कुमार ने बताया कि“लंदन का Foresight समूह जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीएनजी परिवहन में हैं, टर्मिनल के लिए भावनगर तट के साथ एक सर्वेक्षण करना चाहता है. भावनगर के पास सीएनजी के लिए एक क्रॉस-कंट्री पाइपलाइन है. सीएनजी के लिए अपने अंतरराष्ट्रीय संचालन के लिए उन्होंने ईरान के साथ एक दीर्घकालिक समझौता किया है. क्रॉस-कंट्री सीएनजी पाइपलाइन भावनगर बंदरगाह से लगभग 12 किमी दूर है.

 

राज्य में वर्तमान में दाहेज, हजीरा और मुंद्रा में तीन एलएनजी (तरल प्राकृतिक गैस) टर्मिनल हैं. एक और एलएनजी टर्मिनल वर्तमान में छारा बंदरगाह पर निर्माणाधीन है और एक एफएसआरयू (फ्लोटिंग स्टोरेज एंड रेगुलेशन यूनिट) जाफराबाद में बनाया जा रहा है. मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कुमार ने शिखर सम्मेलन के दौरान होने वाले कुछ अन्य निवेशों की भी जानकारी दी.

जिसमें एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड द्वारा कच्छ जिले में मांडवी तट पर एक अपतटीय, कैप्टिव क्रूड आयात सुविधा का विकास शामिल है. कुमार ने कहा, "यह भारत में पहला पोर्ट सुविधा बनाने वाला पहला लैंड- लॉक्ड लगाने वाला राज्य होगा."

First published: 1 January 2019, 14:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी