Home » इंडिया » MP: 25 thousand Farmers on march from Gwalior to Delhi, Rahul gandhi and yashwant sinha supported them
 

MP: दिल्ली की सड़कों पर 25 हजार भूमिहीनों का होगा सत्याग्रह, सरकार के खिलाफ खड़े हुए RSS और BJP के ये नेता

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2018, 11:22 IST

दिल्ली की सड़कों पर सत्याग्रह करने के लिए 25 हजार भूमिहीनों ने ग्वालियर से कूच कर दिया था. इस सत्याग्रह के समर्थन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही भारतीय जनता पार्टी के बागी नेता यशवंत सिन्हा भी हैं. राहुल इन भूमिहीनों के समर्थन के लिए 6 अक्टूबर को मुरैना पहुंचेंगे. गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बागी नेता यशवंत सिन्हा और आरएसएस के पूर्व नेता गोविंदाचार्य किसानों/भूमिहीनों के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं. ये 25 हजार भूमिहीन मध्य प्रदेश के ग्वालियर से भूमि अधिकार की मांग को लेकर दिल्ली की ओर कूच कर चुके हैं.

भूमिहीनों के इस मार्च में शामिल होने के लिए बीजेपी के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा, आरएसएस के विचारक गोविंदाचार्य के अलावा एकता परिषद के संस्थापक पी.वी. राजगोपाल, गांधीवादी सुब्बा राव भी आगे आए. गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में इस समय चुनावी माहौल गर्माया हुआ है. ऐसे में किसानों के बाद अब भूमिहीनों का ये आंदोलन भारतीय जनता पार्टी की सरकार के लिए काफी मुश्किलें खड़ी कर सकता है.

ढाबे में खाने के साथ बेचा जाता था हवाई-जहाज का तेल, विमान ईंधन का ऐसे करते थे इस्तेमाल

हाल ही में हुई किसान आंदोलन में हुई हिंसा की वजह से सरकार को काफी आलोचना झेलनी पड़ी. जहां पुलिस की गोली से कई किसानों की मौत हो गई थी.

ग्वालियर से दिल्ली की ओर कूच कर चुके ये भूमिहीन सत्याग्रही पहले दिन ही 19 किलोमीटर चले और मुरैना जिले की सीमा में पहुंच गए. देशभर के भूमिहीन गांधी जयंती पर मेला मैदान में जमा हुए थे और दो दिन तक वहीं डेरा डाले रहे. उसके बाद गुरुवार को उन्होंने दिल्ली की ओर रुख किया.

गौरतलब है कि हजारों भूमिहीनों ने ये आंदोलन एकता परिषद और सहयोगी संगठनों के आह्वान पर शुरू किया है. इस आंदोलन में उनकी मांग है कि आवासीय कृषिभूमि अधिकार कानून, महिला कृषक हकदारी कानून (बूमन फॉर्मर राइट एक्ट), जमीन के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए न्यायालयों का गठन किया जाए, राष्ट्रीय भूमि सुधार नीति की घोषणा और उसका क्रियान्वयन, वनाधिकार कानून 2006 व पंचायत अधिनियम 1996 के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए राष्ट्रीय और राज्यस्तर पर निगरानी समिति बनाई जाए.

Video: PoK में पाकिस्तान के खिलाफ सडकों पर आई आवाम, कश्मीरियों ने लगाए 'आज़ादी' के नारे

First published: 5 October 2018, 11:22 IST
 
अगली कहानी