Home » इंडिया » MP: CM shivraj announced to form cow ministry before elections part of BJP cow politics
 

MP: चुनावी माहौल में CM शिवराज को याद आई गाय, गौ मंत्रालय बनाने का किया ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 October 2018, 7:50 IST
(File Photo)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शुव्रज सिंह चौहान ने राज्य में गौ मंत्रालय बनाने की घोषणा की. उन्होनें कहा कि गौ-वंश की सेवा और सुरक्षा के लिए राज्य में "गौ संवर्धन बोर्ड" की जगह "गौ मंत्रालय" बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि मंत्रालय बनाने से गौ-वंश की सेवा और सुरक्षा के लिए बेहतर काम किया जा सकेगा.

सागर में आयोजित जीव दया सम्मान समारोह में शिरकत करने पहुंचे शिवराज सिंह ने इस बात की घोषणा की. आचार्य विद्यासागर महाराज डकवारा आयोजित इस कार्यक्रम में मध्य प्रदेश की तीन गौशालाओं को जीव दया सम्मान दिया गया. सम्मान समारोह में दमोह, ग्वालियर और उज्जैन जिले के बड़नगर की गौशाला को इस सम्मान से सम्मानित किया गया. इस कार्यक्रम में सीएम चौहान ने गौ मंत्रायलय बनाने की घोषणा के साथ कहा कि मंत्रालय के अधीन जहां भी जमीन मिलेगी उस जगह पर गौ-अभ्यारण और गौ-शालाओं का निर्माण करवाया जाएगा.

उन्होंने कहा, 'गौशाला और अभयारण्य में वृद्ध गाएं आती हैं और देखभाल के अभाव में इनकी मौत भी हो जाती है. ऐसी गायों के समय पर इलाज सहित अन्य समुचित व्यवस्था भी कराईं जाएगी.' मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रालय बनने से गौसेवा और संवर्धन के लिए तेजी से और बेहतर तरीके से कार्य हो सकेगा.

सुब्रमण्यम स्वामी का दावा, सुभाष चंद्र बोस की हत्या में थी रूस के पूर्व राष्ट्रपति स्टालिन की भूमिका

 

 कांग्रेस ने लगाया नक़ल करने का आरोप

शिवराज सिंह की इस घोषणा पर कांग्रेस ने कहा कि सीएम चौहान नक़ल कर रहे हैं. इस मामले में कांग्रेस के मध्य प्रदेश प्रवक्ता प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा ने कहा, "शिवराज सिंह चौहान बीते 15 सालों में सिर्फ एक गौ अभ्यारण बना पाए और उसकी दुर्दशा को ही सुधार लें तो वो काफी है". आगे दुर्गेश शर्मा ने कहा, ''शिवराज सिंह चौहान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की नकल कर रहे हैं क्योंकि कमलनाथ ने कुछ दिन पहले ही हर पंचायत में गौशाला खोलने की घोषणा की थी और चुनाव में वोट लेने की मंशा से ही गौ-मंत्रालय की घोषणा की गई है."

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में वर्तमान में 614 गौशालाओं को सरकारी अनुदान मिलता है. ये गौशालाएं गौ-संवर्धन बोर्ड के हैं. इन गौशालाओं के लिए 25 करोड़ का बजट भी दिया गया था.

First published: 1 October 2018, 7:50 IST
 
अगली कहानी