Home » इंडिया » MP election 2018: Shivraj singh forced a independent candidate to join BJP, supporter heart attack
 

चुनाव जीतने के लिए CM शिवराज निर्दलीय प्रत्याशी को जबरन ले गए साथ, समर्थक को आया हार्ट अटैक

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 November 2018, 9:12 IST

मध्य प्रदेश चुनावों में जीत हासिल करने के लिए भारतीय जनता पार्टी किसी भी पैंतरे को आजमाने से चूक नहीं रही है. चुनावों में बीजेपी के सशक्त चेहरे और राज्य के मुख्यमंत्री ने भी चुनावों के चलते एक निर्दलीय उम्मीदवार को जबरन भारतीय जनता पार्टी में शामिल करा दिया. निर्दलीय प्रत्याशी गौरव सिंह पारधी के समर्थकों का कहना है कि सीएम ने जबरन पारधी की बीजेपी में शामिल कराया है.

पारधी के समर्थकों ने ये भी आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहले पारधी को अपने साले संजय सिंह जो कि कांग्रेस उम्मीदवार हैं, उनका समर्थन करने के लिए दबाव बनाया. जब पारधी में इससे इंकार किया तो खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान पुलिस के साथ पारधी के ऑफिस में आ गए और जबरन उन्हें हाथ पकड़कर अपने गाड़ी में बिठा लिया. शिवराज सिंह सीधे पारधी को बीजेपी की सभा में ले गए.

चुनाव से पहले BJP का बड़ा दांव, 4 मंत्रियों समेत 11 सीनियर नेताओं को किया बाहर

आजतक की खबर के अनुसार सभास्थल में इस तरह से जोर जबरदस्ती लाए गए पारधी को लेकर हंगामा खड़ा हो गया. वहीं पारधी को जबरन पुलिस वालों के साथ ले जाने से घबराए पारधी के समर्थक अनीस को दिल का दौरा पड़ गया. बेग को फौरन अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल में बेग ने पत्रकारों को बताया कि उन पर चुनावी मैदान से हटने के लिए भारी दबाव बनाया गया था.

वहीं जबरन पारधी को सभा स्थल पर ले जाकर सीएम शिवराज ने पारधी के भाजपा के समर्थन की घोषणा कर दी. वहीं इस मामले में पारधी की तरफ से डॉ. नीरज अरोरा और कैलाश दुलानी ने बताया की उनके उम्मीदवार को पहले लालच दिया गया था. जब लालच से वो नहीं माने तो उन्हें धमकाया गया. धमकाने के बाद भी जब पारधी डरे नहीं और अपने फैसले पर कायम रहे तो अचानक शिवराज सिंह पुलिसकर्मियोंके साथ पारधी के ऑफिस पहुंचे कुछ बात करने के लिए अकेले में 2 मिनट का समय मांगा फिर उन्हें जबरन हाथ पकड़कर गाड़ी में बैठा कर ले गए.

 

 

First published: 23 November 2018, 8:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी