Home » इंडिया » MP: In Chhatarpur a man claims getting an electricity bill of rupees 74962 having just a bulb
 

एमपी अजब है: एक बल्ब जलाने का बिल 75 हजार

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2016, 11:59 IST

एक बल्ब जलाने के लिए महीने में कितना बिजली का बिल देना पड़ता है ? शायद सौ या दो सौ रुपये. लेकिन क्या आप यकीन करेंगे कि एक बल्ब जलाने के लिए 75 हजार रुपये महीने का बिल भरना पड़ना सकता है. 

आपको शायद यकीन नहीं हो रहा होगा. लेकिन मध्य प्रदेश अजब है, सबसे गजब है. जी हां कुछ इसी तर्ज पर एक शख्स के साथ बिजली विभाग ने बिल के नाम पर जो मजाक किया है, उससे परेशान होकर वो दफ्तरों के चक्कर काटने को मजबूर हो गया. 

MP

मामला छतरपुर जिले का है. सरकार एक तरफ जहां गरीबों के लिए कल्याणकारी योजनाएं चलाने का दावा करती है वहीं यहां से आई तस्वीर कुछ और ही कहानी कह रही है. 

छतरपुर के विकलांग की व्यथा


छतरपुर में लल्ली नाम के एक विकलांग शख्स के पास 74 हजार 962 रुपये का बिल पहुंचा है. इस शख्स का दावा है कि वो सिर्फ एक बिजली का बल्ब इस्तेमाल करता है.

पीड़ित शख्स का कहना है कि उसके घर में पंखा तक नहीं है कि वो इस भीषण गर्मी में हवा ले सके. ऊपर से इस बिजली के बिल ने उसे परेशान कर दिया है.

बिल को देखते ही लल्ली और उसके पूरे परिवार के होश फाख्ता हो गए. पीड़ित जब बिजली विभाग पहुंचा तो वहां उसके बिल में से दो हजार रुपए कम कर देने की बात कहकर मामला रफा-दफा करने की कोशिश की गई. 

कलेक्टर ने दिए कार्रवाई के निर्देश


परेशान किसान की फरियाद को बिजली विभाग ने अनसुना करते हुए उसे वहां से टरका दिया. छतरपुर के रहने वाले लल्‍ली सिंह दोनों हाथों से अपाहिज हैं.

बुधवार को वो बिजली विभाग का एक बिल लेकर कलेक्टर के जनसुनवाई कार्यक्रम में पहुंचे और अपनी व्यथा बताई.


किसान ने बताया कि वो बिल लेकर कई बार बिजली विभाग के चक्कर लगा चुका है लेकिन कोई सुनवाई करने को तैयार ही नहीं है. कलेक्‍टर ने किसान का बिजली बिल देखकर अधिकारियों को तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

वहीं इस मामले के सामने आने के बाद मध्य प्रदेश की अजब-गजब दास्तानों में एक और मामला जुड़ गया है.

First published: 5 May 2016, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी