Home » इंडिया » Mumbai Dahi Handi Celebration,Mumbai Dahi Handi Utsav,Janmashtami News In Hindi
 

मुंबई में इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर नाराज हैं 'गोविंदा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(ट्विटर)

देशभर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. महाराष्ट्र में इस मौके पर दही-हांडी उत्सव काफी लोकप्रिय है. हर साल की तरह इस बार भी दही-हांडी का आयोजन हो रहा है, लेकिन बदला-बदला सा.

दही-हांडी फोड़ने वाले गोविंदाओं की टोली जगह-जगह मटकी फोड़ने की मशक्कत और कशमकश से हर साल जूझती है. इस बार महाराष्ट्र में दही-हांडी से पहले सुप्रीम कोर्ट का आया निर्देश गोविंदाओं को नागवार गुजर रहा है. यही वजह है कि उत्सव के बीच विरोध के सुर नजर आ रहे हैं.

मुंबई शहर के अलग-अलग इलाकों में उत्सव के रंग के साथ ही विरोध के भी कई रंग दिख रहे हैं. दादर में गोविंदाओं ने जमीन पर लेटकर मानव पिरामिड (श्रृंखला) बना डाली. खास बात यह कि इस दौरान 20 फीट से ज्यादा लंबाई में लेटे हुए मानव पिरामिड निर्मित किया गया.

पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट: 20 फीट तक ही रहेगी दही-हांडी की ऊंचाई

दरअसल गोविंदाओं का यह तरीका अदालत के उस आदेश के विरोध में है, जिसके तहत दही-हांडी उत्सव के दौरान 20 फीट से ज्यादा ऊंचाई का मानव पिरामिड बनाने पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई है. लिहाजा पुलिस अब दही-हांडी उत्सवों की वीडियोग्राफी भी कर रही है.

अमर नाम के स्थानीय निवासी दही-हांडी उत्सव में गोविंदा बने हैं. उनका कहना है, "सुप्रीम कोर्ट ने 20 फीट से ज्यादा ऊंचे मानव पिरामिड पर बैन लगाया है, लिहाजा हम सांकेतिक रूप से अपनी नाराजगी का इजहार कर रहे हैं."

दादर इलाके के ही एक दही-हांडी उत्सव में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का विरोध करते हुए गोविंदाओं ने मानव पिरामिड बनाने के दौरान काले झंडे दिखाए.

एएनआई

मुंबई में गोविंदा अलग-अलग तरीके से अदालती आदेश पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं. शहर के एक दही-हांडी उत्सव में 20 फीट की सीमा वाले आदेश के खिलाफ सीढ़ी के जरिए चढ़कर दही-हांडी फोड़ने का प्रयास किया.

राज ठाकरे की सियासत

उत्सव के बीच अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सियासत भी गरमा गई है. राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अदालत के आदेश का विरोध करती दिख रही है. हालांकि पुलिस ने अपनी तरफ से आयोजकों को नोटिस थमाकर आगाह किया है.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ 20 फीट से ऊंची दही हांडी लगाने का एलान किया है. साथ ही आदेश के खिलाफ 9 थरों का मानव पिरामिड बनाने की भी घोषणा की है.

यही नहीं, एमएनएस की तरफ से गोविंद पथक को 11 लाख रुपये का इनाम भी दिया जाएगा. आने वाले दिनों में निगम चुनाव होने हैं, ऐसे में एमएनएस के एलान को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है. 

ठाणे में 40 फीट ऊंचा पिरामिड

ठाणे में एमएनएस के एक कार्यकर्ता ने विरोध जताते हुए एक टी शर्ट पहन रखी है. जिस पर मराठी में लिखा हुआ है, "मैं कानून तोड़ूंगा."

ठाणे में सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ताक पर रखते हुए दही-हांडी उत्सव के दौरान गोविंदाओं ने मानव पिरामिड बनाया. यहां 40 फीट से ज्यादा ऊंचा मानव पिरामिड बनाते हुए सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को ठेंगा दिखाया गया.

आसमान में लटके दही-हांडी को फोड़ने की यह परंपरा हर साल कई मासूमों की मौत की वजह बनती है. दही-हांडी फोड़ने के चक्कर में कई गोविंदा घायल होते हैं.

इसके बावजूद इनामी रकम और कीर्तिमान के चक्कर में हांडी की ऊंचाई हर बार बढ़ती ही चली जाती है. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखा और कुछ दायरे तय किए हैं. नाबालिगों को भी इस बार मानव पिरामिड में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं मिली है.

First published: 25 August 2016, 12:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी